सूरत :शराब मामले में पीएसआई ने एक और ट्रेवल मालिक से भी 1 लाख रंगदारी ली थी

प्रतीकात्मक छवि

पुणा के पीएसआई राजपूत के नाम रंगदारी का एक और मामला दर्ज हो सकता है

एसीबी के सामने फिलहाल 2 गवाह सामने आए हैं, आगे की जांच की जरूरत
यह पता चला है कि पुणा पुलिस स्टेशन के डी-स्टाफ के भ्रष्ट पीएसआई जे.एच. राजपूत ने भी शराब के एक मामले में एक अन्य ट्रावेल्स के मालिक से 1 लाख रुपये की रंगदारी की है। आरोपी के रूप में अपना नाम  दर्ज नहीं होने करने के लिए पीएसआई राजपूत ने एक लाख रुपये लिए थे। एसीबी के सामने फिलहाल 2 गवाह सामने आए हैं।
बताया जाता है कि पीएसआई राजपूत ने अन्य ट्रावेल मालिक से भी रिश्वत के पैसे लिए हैं। पीएसआई जयदीप सिंह हसमुख सिंह राजपूत (36) (निवास, रामेश्वर सोसा, पाल रोड, अडाजन, मूल निवासी, कांसागाम, जिला मेहसाणा) को 3 लाख की रिश्वत लेते एसीबी में पकड़े जाने के बाद उसके पाप का घड़ा फुटना शुरू हो गया है। 
ऐसी भी खबरें हैं कि भ्रष्ट पीएसआई अपने रिक्शा चालक जियाउद्दीन अबुलरहीम सैयद को भेजकर कुछ अज्ञात व्यापारियों से मोटी रकम वसूल करता था। डी स्टाफ पीएसआई राजपूत पुणा पुलिस में कपड़ा बाजार में धोखाधड़ी की कुछ शिकायतों की भी जांच कर रहे थे। जिसमें व्यापारियों के एप्लिकेशन हैक होने की आशंका जताई जा रही है। इस संबंध में अगर पुलिस आयुक्त भ्रष्ट पीएसआई द्वारा किए गए आवेदनों की जांच करते हैं तो बड़ा खुलासा हो सकता है।
डेढ़ साल में 21 पुलिसकर्मियों को घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।
डेढ़ साल में सूरत शहर और ग्रामीण इलाकों के थानों में कार्यरत 21 पुलिसकर्मी रिश्वत लेते एसीबी के जाल में फंस गए हैं। जिसमें सूरत शहर की बात करें तो साल 2021 में पीएसआई समेत 5 पुलिसकर्मियों को 3 निजी लोगों के साथ रिश्वत लेते पकड़ा गया था। इसी तरह वर्ष 2022 में एक निजी व्यक्ति के साथ 5 पुलिसकर्मी रिश्वत लेते पकड़े गए थे। वहीं, ग्रामीण पुलिस की बात करें तो वर्ष 2021 में वलसाड, नवसारी, सूरत, मंगरोल, डांग और व्यारा में 8 पुलिसकर्मी समेत 4 निजी लोग रिश्वत लेते पकड़े गए, जबकि वर्ष 2022 में 3 पुलिसकर्मी रिश्वत लेते पकड़े गए

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें