सूरत : विवाहिता ने पति समेत ससुराल वालों के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

प्रतिकारात्मक तस्वीर

जेठ शराब पीकर आने के बाद छोटे भाई की पत्नी को देता था गाली

शहर में दहेज लोभी ससुराल वालों के कारण विवाहिता ने शादी के चार महीने के बाद से ही त्रास सहन करने की शिकायत दर्ज कराई गई है। विवाहिता ने शिकायत में बताया है कि पति सहित ससुराल वालों के प्रताड़ना के बाद ससुराल से त्रस्त होकर मायके  चली गई थी, जहां समाधान के बाद पुनः महिला अपने ससुराल आई थी। रात को जब महिला सोने चली जाती तो उसके पति को भाभी  बुलाती थी और उसके साथ चला जाता है। जब मैं बुलाती हूं तो वे मारपीट करने लगते हैं। साथ ही पांच लाख रुपये दहेज की मांग कर उसे प्रताड़ित करते थे।
महिला थाने में दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक सूरत के पुणे गांव की 22 वर्षीय भाग्यश्री (बदला हुआ नाम) फिलहाल अपने पिता के साथ रह रही है। 3 साल पहले उसकी शादी क‌िरण (बदला हुआ नाम) से हुई थी। इसके बाद वह अपने ससुराल वालों के साथ संयुक्त परिवार में चली गई। शादी के चार महीने बाद तक ठीक रहने के बाद पति, सास-बहू और देवर झगड़ने लगे और छोटी-छोटी बातों पर उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगे।
पति, सास-ससुर कहते थे कि तुम अपने पिता के पास से कुछ नहीं लाई। घर में अच्छे से रहना है तो पापा से 5 लाख ले आओ तो हम तुम्हें अच्छी तरह रखेंगे, नहीं तो तुम्हारे लिए यहां रहना मुश्किल हो जाएगा। जेठ-जेठानी  पति को चढ़ाते है, जिससे पति झगड़ता था और मारपीट करता था। वैवाहिक जीवन बनाये रखने रहने के लिए तीन महीने तक त्रास सहन करती रही।  हालांकि इसके बाद महिला ने इसकी सूचना मां और भाई को दी। उनके समझाने के बावजूद नहीं माने तो मायके चली आई।  
मायके के आने के एक साल बाद न तो पति ने और न ही ससुर को फोन किया। हालांकि, माता-पिता ने समाज के बड़ों के माध्यम से समझौता किया ताकि बेटी का जीवन खराब न हो। महिला दोबारा अपने ससुराल रहने के लिए चली गई। एक महीने बाद फिर से प्रताड़ना शुरू हुई। पति रोज जेठानी के कहे अनुसार शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करता था और वह कुछ देर पत्नी के साथ रहता था, जबकि अधिक समय अपने भाभी के पास बिताता था। 
विवाहिता ने शिकायत में कहा, "जब मैं सो रही होती हूं तब जेठानी रात में मेरे पति को फोन करती थी और मेरा पति भाभी के घर चला जाता था। जब हम बुलाने जाती थी तो मेरा पति आक्रोशित होकर मारता-पीटता था। साथ ही पति ने कहा, मुझे भाभी के साथ रहना है, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। मेरा जेठ हमारे बगल के घर में रहता था और  शराब पीकर मुझे गाली देकर देता था।  
उसने शिकायत में कहा, "एक महीने पहले मैने पति को भाई-भाभी के घर जाने से मना किया था" तो पति ने कहा, मैं अपने भाई-भाभी से बात करके उनके साथ रहने जा रहा हूं। तुम्हे रहना है  तो सहना पड़ेगा। इसके बाद मारपीटकर घर से निकालकर धमकी दी। जिससे भाई और माँ को सूचित किया और मायके चली आई। इसके बाद पति सहित ससुराल वालों के  पांच सदस्यों के खिलाफ दहेज और मानसिक प्रताड़ना का मामला दर्ज कराया गया है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें