सूरत : शहर के पाल में शुरू हुआ लिटिल मिलेनियम प्री-स्कूल, पालिका ने 25 हजार रुपये दंड वसूला

शहर के पाल में शुरु स्कूल को पालिका ने बंद कराया

बच्चों ने बताया कि तीन-चार दिन से चल रहा है प्री-स्कूल

कोरोना के संक्रमण के कारण प्री-स्कूल, शाला, कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। सरकार कोरोना  संक्रमण को ध्यान में रखते हुए  बच्चों को कोई नुकसान नहीं हो इसके लेकर चिंतित है। ऐसे समय में सूरत के पाल इलाके के लिटिल मिलेनियम प्री-स्कूल में बच्चों को बुलाया जा रहा है।
बच्चों को अब एक ऑफ़लाइन कक्षा समूह में तकरीबन 10 से 12 छात्रों को बुलाया गया था। जैसे किसी को डर न हो इस प्रकार कोरोना की गाइड लाइन को दरकिनार कर संचालकों ने अपनी मनमानी दिखाई।  नगर निगम के एक अधिकारी ने तत्काल प्रभाव से स्कूल बंद करा दिया और 25,000 रुपये का जुर्माना लगाया।
ऑफ़लाइन शिक्षा प्रदान करने के लिए स्कूलों को अभी भी सरकार द्वारा अनुमोदित नहीं किया गया है। सरकार ने स्पष्ट गाइडलाइन जारी की है कि बच्चों को स्कूल या आंगनबाड़ियों में नहीं बुलाया जाए। फिर भी लिटिल मिलेनियम प्री-स्कूल द्वारा 9:30 से 11:00 बजे तक बच्चों को बुलाया जा रहा था।
सूरत नगर निगम के अधिकारियों को मामले की जानकारी मिलने के बाद रांदेर क्षेत्र के सेनेटरी इंस्पेक्टर अश्विन रावल लिटिल मिलेनियम प्री-स्कूल पहुंचे। उन्होंने देखा कि स्कूल में दस से बारह बच्चे मौजूद थे। अधिकारियों के पूछने पर उन्होंने कहा कि प्री-स्कूल तीन से चार दिनों से चल रहा है। अधिकारी ने तत्काल प्रभाव से स्कूल बंद करा दिया और 25,000 रुपये का जुर्माना लगाया। साथ ही सरकार की नई गाइड लाइन आने तक स्कूल बंद रखने के सख्त निर्देश दिए हैं। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें