सूरतः कोरोना के उपचार के लिए आहवा जनरल अस्पताल में उपलब्ध सुविधाएं, जानें

आहवा जनरल अस्पताल कोरोना के उपचार के लिए तैयार

मरीजों तथा उनके परिजनों से बिना डरे समय में कोरोना टेस्ट कराने की अपील

पर्याप्त बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सिस्टम बनाए रखने के लिए प्रशासन अलर्ट
"कोरोना" के रोगियों के लिए आहवा जनरल अस्पताल में विशेष ड्यूटी पर चिकित्सक, अन्य चिकित्सा अधिकारी, एनेस्थेटिस्ट, अन्य मेडिकल ऑफिसर सहित 20 जितने  नर्सिंग स्टाफ, लगभग दस सेवक और लिपिकीय कार्य के लिए कर्मचारी शामिल हैं। 
अस्पताल में उपलब्ध उपकरणों और सुविधाओं का विवरण देते हुए, सामान्य अस्पताल के अधीक्षक प्रभारी डॉ. रितेश ब्रह्मभट्ट ने बताया कि  यहां 90 सामान्य बेड व 10 आईसीयू बेड सहित कुल 100 बेड की कोविड अस्पताल कार्यरत की गई है। साथ ही राज्य सरकार की ओर से  11 वयस्क वेंटिलेटर  भी प्रदान किया गया है।
कलेक्टर  एनके डामोर के सीधे मार्गदर्शन में राज्य सरकार ने दो ऑक्सीजन टैंक स्थापित किए हैं। इसके अलावा 54 जितने बड़े तथा 34 बी टाइप  मिलाकर कुल 88 सिलेंडरों की सुविधा रखी गई है।  डॉ. ब्रह्मभट्ट ने कहा कि अगले कुछ दिनों में  जनरल अस्पताल में आरटी पीसीआर प्रयोगशाला को कार्यात्मक बनाने के लिए प्रशासन द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं।
यह उल्लेख किया जा सकता है कि डांग जिले में लैंब शुरु होने पर आरटी पीसीआर नमूने का परिणाम उसी दिन कुछ ही घंटों में दिया जाएगा।   अब तक ये नमूने वलसाड भेजे जा रहे हैं। परिणाम आने में एक से दो दिन लग रहे हैं।
आने वाले दिनों में आरटी पीसीआर प्रयोगशाला शुरू करने के लिए अलग से स्टाफ की व्यवस्था की गई है। तदनुसार, पाँच प्रयोगशाला तकनीशियन, पाँच प्रयोगशाला सहायक, दो डेटा प्रविष्टि ऑपरेटर और तीन नौकरों की सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। मरीजों, साथ ही उनके परिवारों को, "कोरोना वार्ड" में आवश्यकतानुसार जिला परामर्श केंद्र के विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा मनोवैज्ञानिक मार्गदर्शन और समझ प्रदान की जा रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें