सूरतः फोन पर डिटेल्स लेकर बैंक कर्मी के पिता को लगाया 78 हजार का चूना

गोडादरा थाने की फाइल फोटो।

बैंक से नेहा शर्मा बोल रही हूं, फोन ऑन करते ही पैसे निकल गए

काम्प्युटराइज्ड एवं इन्टरनेट का प्रचलन बढ़ने के साथ ही साइबर क्राइम की घटनाएं दिनों दिन बढ़ती जा रही है। लेकिन दुर्भाग्य यह है कि अनेकों घटनाओं के बावजूद लोग सबक नही ले पा रहे है और साइबर अपराधियों के शिकार होते जा रहे हैं। ऐसा ही एक घटना सूरत में बनीं, जिसमें आरबीएल बैंक से नेहा शर्मा नाम से फोनकर बैंक के डिप्टी मैनेजर के पिता को क्रेडिट कार्ड में स्वास्थ्य बीमा शुरू हो गया है कहते हुए 78 हजार का चूना लगा दिया।  डिप्टी बैंक मैनेजर के पिता ने सूरत के गोददरा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले सूरत पुलिस ने गिरोह को गिरफ्तार किया था। 
शहर में कई लोगों को आरबीएल बैंक के अधिकारियों की पहचान देकर क्रेडिट कार्ड में हेल्थ इन्श्योरेंस बंद कराने के नाम बैंक डिटेल लेकर तथा  मोबाइल में ओटीपी भेजकर पैसे निकालने की घटना प्रकाश में आई है। सूरत शहर में ऐसे ही अनेक घटनाएं सामने आई है। शहर  के गोददरा इलाके में कृष्णापार्क सोसायटी के 53 वर्षीय विष्णुकुमार देवी प्रसाद शर्मा एक निजी कंपनी में काम करते हैं। उनका बेटा सूरत के एक बैंक में डिप्टी मैनेजर के तौर पर काम करता है। 1 मई को विष्णुकुमार देवी प्रसाद शर्मा काम पर मौजूद थे, तो उनके मोबाइल पर एक कॉल आई।
फोन करने वाले ने कहा, "नमस्कार, मैं आरबीएल बैंक से नेहा शर्मा बोल रही हूं। आपके क्रेडिट कार्ड में स्वास्थ्य बीमा शुरु हुआ है और इसके लिए 300 रुपये का शुल्क लिया जाएगा।" वह शुल्क क्रेडिट कार्ड में जोड़ा जाएगा। हालांकि विष्णुकुमार ने कोई स्वास्थ्य बीमा शुरू नहीं किया है, उन्होंने स्वास्थ्य बीमा रोकने की बात कही है। तो फोन करने वाली नेहा शर्मा ने कहा, इसके लिए आपको बैंक डिटेल देनी होगी और आपके मोबाइल में एक ओटीपी आएगा। इस प्रकार नेहा शर्मा नाम की एक महिला ने विष्णुकुमार से बात की और उन्हें विश्वास में ले लिया।
विष्णुकुमार ने कोई स्वास्थ्य बीमा शुरू नहीं किया है तो उन्होंने स्वास्थ्य बीमा बंद करने की बात कही थी। जिससे  कॉलर नेहा शर्मा ने उनके क्रेडिट कार्ड का विवरण लिया और एक ओटीपी भेजा जब वह फोन पर बात कर रही थी और  फोन चालू था कि उनके बैंक खाते से दक्षिण गुजरात बिजली कंपनी के बिल में 78,220 रुपये का लेनदेन हुआ।  विष्णु कुमार ने पूरे मामले की सूचना शुक्रवार को गोडादरा थाने में दी है। 
आरबीएल बैंक से बात करने की बात कहकर क्रेडिट कार्ड का विवरण  लेकर  बिजली बिल भुगतान करने वाले गिरोह को  सूरत पुलिस ने गिरफ्तार की थी और पुलिस अभी भी मामले की गहराई से जांच कर रही है। लेकिन सूरत के लोग अभी भी इस तरह की ऑनलाइन फ्राड के शिकार हो रहे हैं। ऐसे में लोगों को इस तरह के भेजाबजों से  सावधान रहने की जरूरत है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें