नासिक के अरविंद सोनार का अजब दावा; उनका शरीर मानो बना चुंबक, चिपकने लगे सिक्के-चम्मच!

शरीर पर चिपके बर्तनों के साथ खड़े अरविंद सोनार

कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लेने के बाद हुआ ऐसा, डॉक्टरों कह रहे - अफवाह है!

देश भर में फैली हुई कोरोना महामारी के कारण लोगों कोप काफी तकलीफ़ों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि लोगों की इस समस्या को दूर करने के लिए सरकार द्वारा टीकाकरण का कार्य तेज कर दिया गया है। जिससे की अधिक से अधिक मात्रा में लोग टीकाकरण करवाकर बीमारी से मुक्त हो सके। हालांकि जब से टीकाकरण शुरू हुआ है। तब से टीके को लेकर कई तरह की अफवायेँ सामने आ रही है। कई लोगों का कहना है की टीके के कारण लोगों की मृत्यु हो रही है तो कई लोग कह रहे है की टीके कए जरिये सरकार सभी के शरीर में चिप डाल रही है, जिससे की वह लोगों की जासूसी कर सके। 
टीके के बारे अफवा उड़ाने की ऐसी ही एक और घटना सामने आई है महाराष्ट्र के नासिक जिले से, जहां एक व्यक्ति द्वारा दावा किया गया है की कोरोना का दूसरा डोज़ लगवाने के बाद उसके शरीर में चुंबकीय शक्ति पैदा हो गई है। जिसकी सहायता से वह अपने शरीर पर आसानी से स्टील के बर्तन चिपका सकता है। व्यक्ति ने इस का एक वीडियो भी बनाया है, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। अरविंद सोनार नाम के इस व्यक्ति के साथ जब ऐसा पहली बार हुआ तो उन्हें लगा की शायद पसीने की वजह से ऐसा हुआ हो, पर इसके बाद भी काफी बार ऐसा हुआ। 
डॉक्टरों के लिए भी यह एक अजीब मामला है। स्थानीय डॉक्टर से बात करने पर उन्होंने कहा की इस बार में कुछ भी जाह नह सकते। यह एक शोध का विषय है। पहले वह इस घटना की जानकारी तंत्र को देंगे। जिसके बाद पूरी जांच के बाद ही इस घटना की सच्चाई पता चल सकती है। पूरी जांच करने पर ही पता चल पायेगा की आखिर ऐसा किस तरह से संभव है। अरविंद सोनार के पुत्र के अनुसार, उन्होंने एक यूट्यूब वीडियो में देखा था कि एक व्यक्ति जिसका दोनों डोज़ का टीकाकरण हो चुका है, वह अपने शरीर में चुंबकीय शक्ति पैदा होने की बात कर रहा था। 
हालांकि फिलहाल इस घटना से खुद परिवार भी काफी हैरान है। डॉक्टरों को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। बता दे की महाराष्ट्र में पहले ही कई गाँव और कस्बे ऐसे है, जहां लोग कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाना चाहते। ऐसे में इस खबर ने लोगों में और भी अधिक भय पैदा कर दिया है। 
हालांकि लोकतेज इस बात की पुष्टि या समर्थन नहीं करता है कि यह घटना कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने के बाद ही हुई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें