एंड्राइड यूजर्स के लिए खास सुचना, आज से काम नहीं करेगा ये फीचर

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Pixabay.com)

आज से बदली गूगल की प्ले स्टोर नीति, नहीं करेंगे कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स काम

आज 11 मई से गूगल की प्ले स्टोर नीति बदल जाएगी। इस बदलाव में मुख्य बात एंड्राइड फोन में कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स को बंद करना। इसका मतलब है कि कोई भी तीसरा पक्ष आपके स्मार्ट फोन पर कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स से कॉल रिकॉर्ड नहीं कर सकता है। यह बात कंपनी पहले ही बता चुकी है। सुरक्षा कारणों से कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स को बंद किया जा रहा है। कंपनी ने कहा कि कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स बहुत सारी अनुमतियां लेते हैं, जिसका कई डेवलपर्स अनुचित लाभ भी उठाते हैं।
इसके अलावा, कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स के नियम अलग-अलग देशों में अलग-अलग होते हैं, यही वजह है कि कंपनियां इसे बदल रही हैं। गूगल की नई नीति के साथ, कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स कल से पूरी तरह से बंद हो जाएंगे। इस नीति के चलते ट्रूकोलर ने भी पुष्टि की है कि उसके साथ अब कॉल रिकॉर्डिंग नहीं की जा सकेगी।
हालांकि आपको बता दें कि जिन फ़ोनों में पहले से ही कॉल रिकॉर्डिंग की सुविधा है, वे काम करना जारी रखेंगे। इसका मतलब है कि अगर आपके फोन में इनबिल्ट कॉल रिकॉर्डिंग ऐप है, तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। यह पहले की तरह ही काम करेगा। समस्या उन लोगों की है जिनके फोन में यह इनबिल्ट कॉल रिकॉर्डिंग ऐप नहीं है और वे थर्ड पार्टी कॉल रिकॉर्डिंग ऐप के जरिए कॉल रिकॉर्ड करते हैं। सैमसंग, वीवो, रियलमी और अन्य के अधिकांश फोन इनबिल्ट कॉल रिकॉर्डिंग फीचर के साथ आते हैं।
गौरतलब है कि कंपनी ने नई नीति से पहले भी इसी तरह के प्रयास किए हैं। कंपनी ने डिफ़ॉल्ट रूप से एंड्राइड 10 में कॉल रिकॉर्डिंग को बंद कर दिया था। ऐप्स ने इस प्रतिबंध को हटाने के लिए एक्सेसिबिलिटी एपीआई का उपयोग करके कॉल रिकॉर्ड करना शुरू कर दिया जो अब गूगल की नई नीति से यह अब संभव नहीं होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें