तो कुछ इस तरह मायानगरी मुम्बई बन बैठी पोर्न का अड्डा, एक नहीं सैकड़ों है राज कुंद्रा

(Photo Credit : twitter.com)

मुंबई पुलिस अधिकारियों ने किए चौकाने वाले खुलासे, लॉकडाउन के दौरान मजबूरी में इस क्षेत्र में आई बहुत सी युवतियां

शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद ये सामने आया कि भारत इन भी पोर्न फिल्म का कारोबार कितने बड़े स्तर पर चल रहा हैं। अब सवाल यह उठता है कि यह धंधा कैसे फला-फूला?  हाल ही में मुंबई के एक अधिकारी ने पोर्न बिजनेस के बारे में विस्तार से बात की। एक रिपोर्ट के मुताबिक डांस बार और ऑर्केस्ट्रा समेत फिल्म इंडस्ट्री पर कोरोना का सबसे ज्यादा असर पड़ा है। ऐसे में यहां से आर्थिक स्थिति से जूझ रहे कुछ लोगों ने पोर्न मूवी में काम करना शुरू किया।
पोर्न मामले की जांच कर रहे एक अधिकारी ने कहा कि जांच के दौरान उसने कई युवतियों से पूछताछ की, जिनमें से कुछ ने कहा कि वे बॉलीवुड की चमक से चकाचौंध होकर वो दूसरे शहरों से मुंबई आई थीं। यहां आकर कई युवतियों ने फिल्मों में एक्स्ट्रा कलाकार के तौर पर काम करना शुरू किया और किसी तरह जीविकोपार्जन करना जारी रखा। ऐसे में जैसे ही कोरोना के चलते फिल्म की शूटिंग रोक दी गई और इन लोगों पर संकट आ गया।
फिल्म में लाइटमैन, कैमरामैन, कास्टिंग डायरेक्टर समेत अलग-अलग लोग हैं। कोरोना के कारण इन सबपर आर्थिक संकट आ गया। ये सभी काम की तलाश में थे।  इस बीच, जैसे ही डिजिटल प्लेटफॉर्म हिट होने लगा, कुछ आर्थिक रूप से मजबूर लोगों ने पोर्न की ओर रुख किया।
पोर्न फिल्म में शामिल कुछ लड़कियों ने क्राइम ब्रांच को बताया कि उन्हें एक फिल्म के लिए 10-15 हजार रुपये मिलते हैं। कई फिल्मों की शूटिंग एक दिन में पूरी हो जाती है जबकि कुछ फिल्मों की शूटिंग चार-पांच घंटे में पूरी हो जाती है।  कुछ फिल्मों की शूटिंग 2-3 दिनों तक चलती है।
अधिकारी ने आगे कहा कि अक्सर ऐसा होता है कि एक ही टीम एक ही दिन में 2-3 फिल्में बनाती थी। कभी-कभी ऐसा होता कि एक युवती महीने में पांच से सात फिल्में बना लेती। ऐसे में वह अक्सर एक लाख से 3-4 लाख रुपये महीने तक कमा लेती थी। मुंबई पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, कोरोना काल में लॉकडाउन के चलते मुंबई के ज्यादातर वेश्यालय बंद थे, क्योंकि लोग बाहर नहीं जा सकते थे और संक्रमण के डर से ग्राहक जा नहीं रहे थे। कुछ लोगों ने अलग-अलग वेश्यालयों की युवतियों को अश्लील फिल्मों में काम करने का लालच दिया। शूटिंग मड आइलैंड जैसे शांत इलाके के बंगलों में हुई। इस वजह से किसी को पता भी नहीं चला।
मुंबई पुलिस की जांच में यह भी सामने आया कि पोर्न फिल्म में कई युवतियां थीं जो कभी किसी डांस बार या ऑर्केस्ट्रा में काम कर रही थीं।  डांस बार को महाराष्ट्र सरकार ने कई साल पहले बंद कर दिया था। मालिक ने सुप्रीम कोर्ट में केस जीत लिया, लेकिन सरकार ने लाइसेंस जारी नहीं किया।  इसलिए डांस बार मालिकों ने ऑर्केस्ट्रा बार को लाइसेंस दे दिया है। सच्चाई यह थी कि ऑर्केस्ट्रा के नाम पर कई जगहों पर डांस बार अवैध रूप से चल रहे थे।  कई डांस बार मालिकों के बयान न केवल ईडी (प्रवर्तन निदेशालय), बल्कि सीबीआई (केंद्रीय जांच ब्यूरो) और एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) ने भी लिए हैं।
मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने माना है कि पोर्न फिल्म इंडस्ट्री में एक नहीं बल्कि 100 से ज्यादा राज कुंद्रा हैं। उन्होंने जबरदस्ती युवतियों से सीधे नहीं, बल्कि किसी के जरिए संपर्क किया और उन्हें पोर्न इंडस्ट्री में काम दिलाने के लिए कहा। पोर्न फिल्म के तार मुंबई से लेकर लंदन-सिंगापुर तक जुड़े हुए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें