'रेल रोको आंदोलन' पर एसकेएम का दावा, '290 से अधिक ट्रेनें प्रभावित, 40 से अधिक ट्रेनें रद्द'

(Photo Credit : IANS)

नई दिल्ली, 18 अक्टूबर (आईएएनएस)| लखिमपुर खीरी हिंसा मामले के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार को 6 घंटे तक रेल रोको आंदोलन का आह्वान किया जिसका देशभर में मिला जुला असर रहा। वहीं एसकेएम ने दावा किया कि रेल रोको आंदोलन में 290 से अधिक ट्रेनें कथित तौर पर प्रभावित हुईं और 40 से अधिक ट्रेनें रद्द कर दी गईं। उत्तर रेलवे की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, जितनी जगहों पर रेल सेवाएं प्रभावित हुईं, वह अब सामान्य रूप से शुरू हो गई हैं।
फिलहाल किसान रेलवे पटरियों से अपने अपने गंतव्य स्थानों की ओर बढ़ने लगे हैं। दरअसल संयुक्त किसान मोर्चा के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर भारत भर में सैकड़ों स्थानों पर, प्रदर्शनकारी किसानों ने आज छह घंटे के लिए रेलवे ट्रैक और प्लेटफार्मों पर आंदोलन किया। एसकेएम के मुताबिक, 290 से अधिक ट्रेनें कथित तौर पर प्रभावित हुईं और 40 से अधिक ट्रेनें रद्द कर दी गईं। इसके अलावा यूपी पुलिस ने किसान नेताओं को कई जगहों पर हिरासत में ले लिया। वहीं मध्य प्रदेश में पुलिस ने कई जगहों जैसे गुना, ग्वालियर, रीवा, बामनिया (झाबुआ) और अन्य जगहों पर प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया। तेलंगाना के काचीगुडा (हैदराबाद) में भी प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया।
किसान मोर्चा द्वारा बताया गया कि, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना आदि से रेल रोको आंदोलन के सफल होने की खबरें प्राप्त हुई हैं। संयुक्त किसान मोर्चा ने लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड में अजय मिश्रा टेनी को गिरफ्तार कर केंद्रीय मंत्रिपरिषद से बर्खास्त करने की अपनी मांग पुरजोर तौर पर दोहराई। एसकेएम ने यह भी चेतावनी दी है कि अगर लखीमपुर खीरी नरसंहार में न्याय की मांग पूरी नहीं की गई तो विरोध और तेज किया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें