वैज्ञानिकोंने खोजा आकाशगंगा में 'सबसे सुरक्षित स्थान', धरती को लेकर ये है उनकी राय

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

ऐसा माना जाता है कि हम जिस अन्तरिक्ष में है वो अभी भी एक बहुत बड़ी अनसुलझी पहेली है। हर रोज अंतरिक्ष से जुड़ा कोई न कोई नया शोध सामने आता है। ऐसे में अंतरिक्ष विज्ञानियों ने काफी रिसर्च के बाद एक नया परिणाम सामने रखा है। वैज्ञानिकों ने आकाशगंगा में रहने के लिए सबसे सुरक्षित स्थान खोज लिया है। आपको बता दें कि इस शोध के लिए वैज्ञानिकों को पूरे आकाशगंगा की जांच करनी पड़ी। इस शोध में सामने आये परिणाम में हैरानी की बात ये है कि हमारी धरती काफी ज्यादा सुरक्षित स्थान पर हैं।
आपको बता दें कि इस शोध को इटली के इनसुब्रिया यूनिवर्सिटी के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की टीम ने किया है। इस टीम के प्रमुख और एस्ट्रोनॉमर रिकॉर्डो स्पिनेली का कहना है कि अंतरिक्ष में हुए विस्फोट की वजह से कई जीव समाप्त हो चुके है। अंतरिक्ष के विस्फोट यानी सुपरनोवा, गामा-किरणों का फूटना, उच्च-ऊर्जा वाले कणों का फैलना और रेडिएशन डीएनए को नष्ट करके जीवन को खत्म कर सकते हैं।
आपको बता दें कि किसी ग्रह के रहने के लिए वहां के तारों के साथ का सामंजस्य सबसे आवश्यक है। इसका मतलब है कि पृथ्वी को सूरज से पर्याप्त गर्मी मिलती है। इसके साथ साथ ही ये तारा या तारें ग्रह को विकिरण, सुपरनोवा, गामा किरणें, उच्च ऊर्जा कण और सौर तूफान जैसी अंतरिक्ष से आने वाली परेशानियों से दूर रखें। ऐसे में देखे तो हमें पृथ्वी इन सभी खतरों से सुरक्षित मिलती है। ऐसे में हम कह सकते है कि हम आकाशगंगा के सबसे सुरक्षित स्थानों में से एक में रह रहे है।
गौरतलब है कि आकाशगंगा के केंद्र में लगातार सुपरनोवा और अन्य गतिविधियां होती रहती हैं लेकिन बाहरी छोर पर ये कम ही हैं। अगर भविष्य की बात करें तो हमारी आकाशगंगा में कई जगह जीवन के पनपने का माहौल बना रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें