साहित्य अकादमी अवार्ड 2021 : दया प्रकाश सिन्हा को हिन्दी और नमिता गोखले को अंग्रेजी भाषा में मिला पुरस्कार

साहित्य अकादमी ने गुरुवार को प्रतिष्ठित वार्षिक साहित्य अकादमी पुरस्कार की घोषणा कर दी है। जिसमें हिन्दी के लिए दया प्रकाश सिन्हा और अँग्रेजी के लिए नमिता गोखले को पुरस्कार मिला था। इसके अलावा 18 अन्य भारतीय भाषाओं के लेखकों को साहित्य पुरस्कार मिलेगा। इसके अलावा युवा पुरस्कार 22 भारतीय भाषाओं और बाल साहित्य पुरस्कार भी 22 भारतीय भाषाओं के लिए दिये जाएंगे। घोषित किए पुरस्कारों में 7 कविता-संग्रह, 5 कहानी और 2 उपन्यास तथा 2 नाटक, एक जीवन चरित्र, एक आत्मकथा, एक महाकाव्य और एक आलोचना की पुस्तक भी शामिल है। 
दया प्रकाश सिन्हा को उनके नाटक 'सम्राट अशोक', अँग्रेजी साहित्य में नमिता गोखले के उपन्यास 'थिंग्स टू लीव बिहाइंड' और पंजाबी के लिए खालिद हुसैन को उनके कहानी संग्रह 'सुलां दा सालण' के लिए देने की घोषणा की गई है। इसके अलावा गुजराती, मैथिली तथा अन्य भाषाओं के लिए पुरस्कार बाद में घोषित किए जाएगे। साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार 2021 के लिए 22 भारतीय भाषाओं में पुरस्कार घोषित किए गए हैं। हिंदी के लिए हिमांशु वाजपेयी को उनके कहानी-संग्रह 'क़िस्सा क़िस्सा लखनउवा' लखनऊ के अवामी क़िस्से पर, अंग्रेज़ी के लिए मेघा मजुमदार को उनके उपन्यास 'ए बर्निंग' पर, उर्दू के लिए उमर फरहत को उनके काव्य संग्रह 'ज़मीन ज़ाद' पर और पंजाबी के लिए वीर देविंदर सिंह को उनके निबंध संग्रह 'पा दे पैलां' पर पुरस्कृत किया गया है। तमिल में पुरस्कार बाद में घोषित किया जाएगा और इस वर्ष राजस्थानी में पुरस्कार घोषित नहीं किया जाएगा।
साहित्य अकादमी बाल साहित्य पुरस्कार 2021 के लिए 22 भारतीय भाषाओं में पुरस्कार घोषित किए गए हैं। हिंदी के लिए देवेंद्र मेवाड़ी को उनके नाटक-संग्रह 'नाटक-नाटक में विज्ञान' के लिए, अंग्रेज़ी में अनीता वच्छरजनी को उनकी जीवनी पुस्तक 'अमृता शेर-गिलः रिबेल विद ए पेंटब्रुश' के लिए, उर्दू के लिए कौसर सिद्दिकी को उनके कविता-संग्रह चराग़ फूलों के लिए पुरस्कृत किया गया है. गुजराती और पंजाबी भाषा में इस साल पुरस्कार नहीं दिए जा रहे हैं।
रस्कार 1 जनवरी 2015 से 31 दिसंबर 2019 के दौरान पहली बार प्रकाशित पुस्तकों पर दिया गया है। मुख्य पुरस्कार विजेता को पुरस्कार स्वरूप एक उत्कीर्ण ताम्रफलक, शॉल और एक लाख रुपए की राशि और युवा पुरस्कार, बाल साहित्य पुरस्कार विजेताओं को एक उत्कीर्ण ताम्रफलक और 50,000 रुपए की राशि बाद में आयोजित होने वाले एक विशेष समारोह में प्रदान किए जाएंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें