सूरत के सरकारी कोविड अस्पताल में रामनवमी पर रामधुन और भजन किर्तन हुआ

सूरत सिविल अस्पताल के कोविड वोर्ड में रामधुन करते हुए चिकित्सक एवं नर्स

सूरत सिविल अस्पताल के कोविड वोर्ड में मरीजों में मानसिक रूप से मजबुत करने के लिए रामनवमी पर चिकित्सकों एवं नर्स ने रामधुन तथा भजन कर्याक्रम आयोजित किया।

नेगेटिव का डर दुर करने के लिए चिकित्सकों एवं नर्सो द्वारा पोजिटिव प्रयास 
सूरत शहर में कोरोना वायरस संक्रमण  ने हाहाकार मचा रखा है जिससे हररोज 2 हजार के आसपास नए लोगों का कोरोना रिपोर्ट पोजिटिव आ रहा है। सरकारी सिविल और स्मीमेर अस्पताल में रोज सेंकडो मरीजों आ रहे है और कईयों की मौत हो रही है। इस दौरान रामनवमी के त्यौहार पर सरकारी कोविड अस्पताल के वोर्ड में भर्ती मरीजों में से नेगेटिविटी दुर करने के लिए चिकित्सकों एवं नर्स ने रामधुन तथा भजन किर्तन करके प्रोजिटिव वातावरण बनाने का प्रयास किया। 
सूरत की सरकारी सिविल अस्पताल में कार्यरत कोविड अस्पताल में हररोज तीन सौ से चारसो नए कोविड के मरीज भर्ती हो रहे है। कोविड मरीजों को स्वस्थ करने के लिए अस्पताल के चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ रात दिन अपनी जान जोखिम में डालकर प्रयास कर रहे है। कोविड अस्पताल में आनेवाले ज्यादातर मरीजों की हालत गंभीर होती है और उन्हे ऑक्सिजन की तथा वेन्टीलेटर की जरूरत पडती है। कोविड अस्पताल में भर्ती कई मरीजों की चिकित्सा के दौरान ही मौत हो जाती है। ऐसे नेगेटिव माहोल के दौरान राम नवमी के पावन पर्व पर को‌विड वोर्ड में पोजिटिव माहोल बनाने का चिकित्सकों एवं नर्सो ने प्रयास किया। चिकित्सको तथा नर्स ने वोर्ड में रामधुन एवं भजन किर्तन माईक पर गांकर वोर्ड में भर्ती मरीजों के जल्दी स्वस्थ होने के लिए दुआ प्रार्थना की। मरीजों ने भी चिकित्सको तथा नर्स के प्रयास की सराहना करते हुए माईक पर भजन किर्तन गांने के साथ बेड पर बैठकर ताली बजाकर एक दुसरे का होंसला बढाया। 
कोविड अस्पताल में भर्ती मरीज जल्द स्वस्थ होकर अपने घर स्वजनों के पास लौटे इसी उम्मीद पर आज रामधुन एवं भजन किर्तन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। कोविड वोर्ड में नेगेटिव वातावरण को प्रोजिटिव  में परिवर्तीत करने का प्रयास किया गया जिससे मरीजों में महामारी के खिलाफ लडने की मानसिक शक्ति मिल सके। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें