अजीबोगरीब: अब अपने सोने के मास्क के कारण चर्चा का विषय बन गए ‘उत्तर प्रदेश के बप्पी लहरी’

(Photo Credit : divyabhaskar.co.in)

गोल्डन बाबा पहनते हैं 250 ग्राम वजन की चार सोने की जंजीरें, सुरक्षा के लिए रखे है अंगरक्षक

फेस मास्क कोरोना महामारी के बीच जीवन का बहुत अहम हिस्सा बन चुका है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोग फेस मास्क पहन रहे हैं। पुणे के शख्स के बाद अब कानपुर में रहने वाले और 'उत्तर प्रदेश के बप्पी लहरी' के नाम से मशहूर मनोज सेंगर ने 5 लाख रुपये की लागत से गोल्डन मास्क बनाया है. इस महंगे मास्क की वजह से मनोज चर्चा का केंद्र बन गए हैं। बप्पी लाहिड़ी की तरह मनोज को भी सोने का सामान खरीदना और पहनना पसंद है। मनोज 250 ग्राम वजन की चार सोने की जंजीरें पहनते हैं। अपने सोने के मास्क के बारे में उनका कहना है कि इस मास्क में सैनिटाइज़र का घोल है और यह 36 महीने तक काम करेगा।
(Photo Credit : divyabhaskar.co.in)
आपको बता दें कि मनोज के पास मास्क के अलावा हनुमान का लॉकेट और सोने की बनी मछली भी है। वह रोजाना 2 किलो सोना पहनकर बाहर निकलते हैं। मनोज के इसी शौक के चलते कानपुर की जनता ने उनका नाम गोल्डन बाबा रखा है। गोल्डन बाबा ने कहा, "मैं भी सोने की वजह से चर्चा में रहता हूं और अक्सर मुझे धमकियां भी मिलती हैं। हालांकि मैं हर बार सावधान रहता हूं। मेरी देखभाल के लिए मैंने दो अंगरक्षक रखे हैं।"
आपको बता दें कि मनोज से पहले मूल रूप से पुणे के रहने वाले शंकर कुराडे ने सोने का मुखौटा बनावाया है। मास्क का वजन करीब 5 तोला था और इसकी कीमत 3 लाख रुपए थी। इस सोने के मुखौटे में बारीक छेद थे। ताकि सांस लेने में दिक्कत न हो। शंकर कुराडे को सोना पहनने का बड़ा शौक है। शंकर लगभग 3 किलो सोना पहनते हैं। इसी शौक की वजह से वे अक्सर खबरों में रहती हैं। शंकर कुराडे एक बार फिर कोरोना काल में सोने का मुखौटा बनाकर चर्चा में आ गए थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें