'केबीसी 13' पर नीरज चोपड़ा ने अपनी पसंदीदा खेल जेवलिन थ्रो को लेकर की बात

(Photo Credit : IANS)

मुंबई, 17 सितम्बर (आईएएनएस)| ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा, जो शुक्रवार को 'कौन बनेगा करोड़पति 13' में 'शानदार शुक्रावार' एपिसोड में हॉट सीट पर नजर आएंगे, इस शो में अपनी कहानी साझा करेंगे कि उन्होंने एक खेल के रूप में भाला फेंक क्यों और कैसे चुना। उन्होंने बताया कि ईमानदारी से कहूं तो जब मैं 13- 14 साल का था, तब मेरा वजन अधिक था। मेरे चाचाजी (मामा) ने जोर देकर कहा कि मैं खेल को अपनाऊ। उन्होंने मुझे खेल और पढ़ाई के बीच चयन करने के लिए कहा, यह सोचकर कि उन्हें मुझ पर गर्व होगा। मैंने उन्हें अपनी पसंद पढ़ाई बताई।
"जिस पर उन्होंने कहा कि वह जानते है कि मैं कितना पढ़ता हूं और मुझे खेल खेलने के लिए कहा। इसलिए, जब उन्होंने मुझे एक स्टेडियम भेजा, तो मुझे यकीन नहीं था कि मैं कोई भी खेल खेल पाऊंगा।" मैं बस वजन कम करने के लिए वहां गया था। स्टेडियम मेरे गांव से 15-16 किलोमीटर दूर था और मैं बस से यात्रा करता था। वह बस स्टेडियम से 2 किमी आगे रुकती थी और मुझे बाकी रास्ता चलना पड़ता था। एक या दो महीने के बाद मेरी फिटनेस में सुधार हुआ।
नीरज ने बताया कि स्टेडियम में बहुत सारे खेल थे लेकिन मैंने अपने सीनियर्स को भाला फेंकते देखा और मुझे इसे बहुत दूर जाकर मैदान में फंसते हुए देखना अच्छा लगा और मुझे लगा कि मैं भी ऐसा ही कुछ करना चाहता हूं। मैंने इसे आजमाया और इसका भरपूर आनंद लिया। उन्होंने कहा कि मेरे सीनियर जय, उन्हें लगा कि मेरा थ्रो अच्छा है और उन्होंने मुझे अपने साथ शामिल होने के लिए कहा। मुझे नहीं पता कि क्या हुआ और मुझे इसके बारे में क्या पसंद आया, लेकिन मुझे लगा कि यह एक ऐसा खेल है जिसे मैं अपनाना चाहता हूं।
जब मैंने इस खेल को अपनाया तो मैंने ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने के बारे में कभी नहीं सोचा था। मैंने बस अपनी सारी ऊर्जा खेल में लगाई और कड़ी मेहनत से खेल खेला। मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे अपने परिवार और वरिष्ठों से बहुत समर्थन और मार्गदर्शन मिला और आज, मैंने मेरे देश के लिए गोल्ड जीता। ओलंपियन पीआर श्रीजेश और नीरज चोपड़ा सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर 17 सितंबर को प्रसारित होने वाले 'केबीसी 13' के 'शानदार शुक्रवार' एपिसोड के विशेष अतिथि होंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें