ओला ने सबसे बड़ी दोपहिया फैक्ट्री की घोषणा की, हर 2 सेकंड में बनेगा 1 बिजली स्कूटर

ओला की यह फैक्ट्री 2022 तक चालू हो जाएगी। एलन मस्क की अगुवाई वाली टेस्ला के भारत में प्रवेश से पहले ही ओला ने विश्व की सबसे बड़ी टू-व्हीलर फैक्ट्री की घोषणा कर दी है।

नई दिल्ली, 8 मार्च (आईएएनएस)| राइड-हेलिंग प्लेटफॉर्म ओला ने सोमवार को ओला फ्यूचरफैक्ट्री नामक दुनिया की सबसे बड़ी दोपहिया निर्माण सुविधा की घोषणा की, जिसमें एक लाख वाहनों की वार्षिक उत्पादन क्षमता होगी। ओला की यह फैक्ट्री 2022 तक चालू हो जाएगी। एलन मस्क की अगुवाई वाली टेस्ला के भारत में प्रवेश से पहले ही ओला ने विश्व की सबसे बड़ी टू-व्हीलर फैक्ट्री की घोषणा कर दी है। फैक्ट्री ओला विक्रेताओं और आपूर्तिकर्ताओं द्वारा अतिरिक्त नौकरियां पेश करने के साथ ही 10,000 प्रत्यक्ष रोजगार पैदा करेगी।
जानें कंपनी के चेयरमेन भाविश अग्रवाल ने क्या कहा
कंपनी के चेयरमैन और ग्रुप सीईओ भाविश अग्रवाल के अनुसार, फैक्ट्री का फेज-1 जून 2021 में ही बनकर तैयार हो जाएगा और इस अवधि में कंपनी की 20 लाख सालाना प्रोडक्टशन क्षमता होगी। अग्रवाल ने मीडियाकर्मियों को बताया कि तमिलनाडु में कृष्णागिरि जिले में 500 एकड़ में निर्मित यह सुविधा हर दो सेकंड में एक स्कूटर का निर्माण करने में सक्षम होगी।
दुनिया की सबसे एडवांस टू-व्हीलर फैक्ट्री 
उन्होंने कहा कि ओला इलेक्ट्रिक की इस फैक्ट्री में कुल 10 प्रोडक्टशन लाइंस होंगी। कंपनी के चेयरमैन ने दावा किया है कि यह दुनिया की सबसे एडवांस टू-व्हीलर फैक्ट्री होगी। यह फैक्ट्री इंडस्ट्री 4.0 के सिद्धांत पर बनी है और इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस 3,000 रोबोट होंगे। यह एक एकीकृत विनिर्माण सुविधा होगी, जिसमें बैट्री से लेकर तैयार सामान तक सभी आवश्यकताओं को संबोधित किया जाएगा।
टीजर दृश्य भी जारी
ओला इलेक्ट्रिक ने बहुप्रतीक्षित इलेक्ट्रिक स्कूटर का पहला टीजर दृश्य भी जारी किया है। कंपनी की देशभर में व्यापक चार्जिग और स्वैपिंग नेटवर्क स्थापित करने की भी योजना है।  ओला कंपनी इलेक्ट्रिक नई दिल्ली में बैट्री स्वैपिंग और चार्जिग स्टेशनों की स्थापना के माध्यम से एक अनुकूल ईवी पारिस्थितिकी तंत्र विकसित करने की दिशा में भारत की प्रमुख बिजली वितरण कंपनियों के साथ भी काम कर रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें