अब ड्राइविंग टेस्ट के लिए नहीं खाने पड़ेंगे आरटीओ के धक्के, जानें परिवहन मंत्रालय की नई गाइडलाइन

प्रतिकात्मक तस्वीर

परिवहन मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त सेंटरों पर ही दे सकेगे ड्राइविंग टेस्ट

आजकल यदि सड़क पर गाड़ी चलानी है तो उसके लिए सबसे जरूरी है आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस का होना। हालांकि कई लोग ड्राइविंग लाइसेंस के लिए होने वाले टेस्ट के दौरान की समय की बर्बादी के कारण लाइसेंस निकलवाने में काफी आलस करते हैं। ऐसे में इन लोगों के लिए एक अच्छी खबर सामने आ रही है, जिसके अनुसार ड्राइविंग लाइसेंस निकलवाने के लिए अब आपको ड्राइविंग टेस्ट देने आरटीओ नहीं जाना पड़ेगा। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार मार्ग परिवहन मंत्रालय द्वारा एक गाइडलाइन जारी की गई है। गाइडलाइन के अनुसार, अब व्यक्ति को ड्राइविंग टेस्ट के लिए आरटीओ जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। परंतु वह मार्ग परिवहन मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त सेंटर पर से ही ड्राइविंग टेस्ट दे सकेंगे। इसके लिए व्यक्ति जहां ड्राइविंग सीख रहा है, वहां से उसे एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा। जिसके अनुसार वह ट्रेनिंग पूरी होने के बाद इन सेंटरों में जाकर ड्राइविंग टेस्ट दे सकेगा और उसी के आधार पर उसका ड्राइविंग लायसंस मिल सकेगा।
मंत्रालय के इस आदेश के बाद आरटीओ का काम काफी कम हो जाएगा। बता दें कि इसके पहले ड्राइविंग लाइसेंस के लिए जो टेस्ट देना पड़ता था, उसके लिए लोगों को आरटीओ जाना पड़ता था। एक ही दिन में हजारों लोगों के आने से आरटीओ के कर्मचारियों का भी कार्यभार काफी बढ़ने लगा था। ऐसे में कोरोना महामारी के आने के बाद यह बोझ और बढ़ गया। इसलिए मंत्रालय द्वारा एक नया बदलाव और काम को तेज करने के लिए स्मार्ट वर्क किया जा रहा है, जिससे लोगों को लाइसेंस देने की देने का काम और भी तेजी से किया जा सके। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें