राष्ट्रीय खेल : गुजरात को मिला अपना पहला स्वर्ण, टेबल टेनिस में मिला सात साल बाद सोना

दिल्ली को हारते हुए गुजरात ने जीता स्वर्ण पदक

सूरत में चल रहे 36वें राष्ट्रीय खेलों में गुजरात ने अपना पहला स्वर्ण पदक जीत लिया है। गुजरात को ये पदक टेबल टेनिस की टीम ने दिलवाया। इस खेल में गुजरात ने गोल्ड जीता और सिल्वर मेडल दिल्ली को गया। वहीं महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल को संयुक्त कांस्य पदक मिला है। 2015 में गुजरात की टीम चांदी तक सीमित थी, सात साल बाद गुजरात ने चांदी को सोने में बदला है।

गुजरात ने दिल्ली को 3-0 से हराया


उद्घाटन समारोह होने से पहले ही गुजरात ने अपने घरेलू मैदान पर खेले जाने वाले 36वें राष्ट्रीय खेलों के टेबल टेनिस में स्वर्ण पदक के साथ खाता खोला। गुजरात की पुरुष टीम ने दिल्ली के खिलाफ फाइनल मैच में बिना एक भी गेम गंवाए स्वर्ण पदक जीता। वहीं महिला टेबल टेनिस में बंगाल की टीम ने महाराष्ट्र को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। पुरुष और महिला सेमीफाइनल में हारने वाली महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु, तेलंगाना की टीमों को कांस्य पदक मिला। सात साल बाद आयोजित पहले राष्ट्रीय खेलों के फाइनल में गुजरात ने दिल्ली को 3-0 से हराया।

गुजरात की टीम का नेतृत्व सूरत के हरमीत देसाई ने किया


इस खेल के दौरान मानव ठक्कर ने सुधांशु ग्रोवर को 11-3, 13-11, 14-12, हरमीत देसाई ने पायस जैन को 11-7, 11-3, 12-10 और मानुष शाह ने यशांश मलिक को 11-4, 11-9, 11-4 से हराया। वहीं महिला फाइनल में ईस्ट बंगाल ने महाराष्ट्र को 3-1 से हराया। बंगाल के लिए अयिका मुखर्जी, मौमा दास और सुतीर्थ मुखर्जी ने जीत दर्ज की। महाराष्ट्र के लिए एकमात्र जीत रितृष्य टेनिसन ने की। इससे पहले गुजरात ने सेमीफाइनल में पश्चिम बंगाल को 3-0 से हराया था। दूसरे नंबर के महाराष्ट्र को 3-2 से हराया। राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता हरमीत देसाई ने दिल्ली के अनिर्बान घोष को 11-6, 8-11, 6-11, 11-4, 11-3, मानव ठक्कर ने रोनित भांजा को 11-9, 11-9, 12-10 और मानुष शाह को हराया जीत चंद्रा 11-11।गुजरात ने उन्हें 5, 11-9, 4-12 और 11-1 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें