नालंदा : बिहारवासियों को बड़ी सौगात, राजगीर में ग्लास स्काई वॉक

नीतीश ने दिया नेचर सफारी का तोहफा, कहा, 'ग्लास स्काई वाक की चर्चा देशभर में'

राजगीर, 26 मार्च (आईएएनएस)| बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को नालंदा जिले के राजगीर में नेचर सफारी का लोकार्पण करते हुये बिहारवासियों को बड़ी सौगात दी। इस क्रम में उन्होंने ग्लास स्काई वाक का भी उद्घाटन किया। उद्घाटन के पश्चात ग्लास स्काई वाक का अवलोकन करते हुए कहा कि लोगों को खुशी हुई है कि देश का पहला ग्लास स्काई वाक बिहार के राजगीर में बना है। उन्होंने कहा कि इसकी चर्चा देश दुनिया में है। मुख्यमंत्री नेचर सफारी को देखने के बाद रोप साइकिलिंग, जीप लाइन, रक क्लाइम्बिंग, राइफल शूटिंग रेंज एवं आर्चरी शूटिंग रेंज का भी शुभारंभ किया।
तीन वर्षों में पूरा हुआ निर्माण कार्य
मुख्यमंत्री ने नेचर सफारी स्थित कैफेटेरिया में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि नेचर सफारी का आज उद्घाटन हुआ है। इसके लिए सभी को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि 3 वर्षो के अंदर नेचर सफारी का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया। नेचर सफारी में दोनों तरफ से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं, जिससे लोग सुरक्षित घूम सकें। मुख्यमंत्री ने कहा, "नेचर सफारी में ग्लास स्काई वाक और सस्पेंशन ब्रिज का भी निर्माण किया गया है। आने वाले पर्यटक इन दोनों का आनंद उठा सकते हैं। ग्लास स्काई वाक इस देश में पहला है। देश दुनिया में इसको लेकर चर्चा हुई है। लोगों को खुशी हुई है कि देश का पहला ग्लास स्काई वाक बिहार के राजगीर में बना है।" उन्होंने बताया कि नेचर सफारी का पूरा क्षेत्र 8 किलोमीटर से ज्यादा का है। उन्होंने कहा कि नेचर सफारी घूमने आने वाली नई पीढ़ी में पर्यावरण को लेकर जागृति आएगी।
राजगीर में नवनिर्मित केबिन रोपवे
मुख्यमंत्री ने कहा कि जू सफारी में जानवरों के लाने का सिलसिला शुरू हो गया है और इसका शेष काम भी कुछ महीनों में पूरा कर लिया जाएगा। जल्द ही इसका भी लोकार्पण किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण को लेकर बिहार में जल-जीवन-हरियाली अभियान चलाया जा रहा है। उसी को ध्यान में रखते हुए अनेक जगहों पर इस तरह के काम किए जा रहे हैं।
बिहार में बढ़ रहे पर्यटकउन्होंने कहा, "बिहार आने वाले पर्यटकों की संख्या में काफी इजाफा हो रहा है। पूरे देश से दो करोड़ से भी ज्यादा पर्यटक बिहार में आते हैं। इसके अलावा विदेश से भी 10 लाख से ज्यादा पर्यटक बिहार आते हैं, जिनमें सबसे ज्यादा राजगीर, गया, बोधगया और वैशाली आते हैं।" मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में ईको टूरिज्म को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। नेचर सफारी भी ईको टूरिज्म का ही हिस्सा है। ये सब वन एवं पर्यावरण विभाग के अधीन रहेगा। इसको लेकर वन एवं पर्यावरण विभाग के अंतर्गत एक विंग बनाया जा रहा है।
इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के मंत्री नीरज कुमार सिंह, पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद सहित कई नेता और अधिकारी उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें