देश में बनने जा रहा है मोबाइल अस्पताल, आपातकालीन स्थिति में प्लेन या ट्रेन से कहीं भी ले जाया जा सकेगा

प्रतिकात्मक तस्वीर

दिल्ली और चेन्नई में बनेंगे पहले दो मोबाइल हॉस्पिटल, 100 बेड की क्षमता के साथ होगी हर सुविधा

केंद्र सरकार के प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत स्वास्थय अवसंरचना मिशन के तहत दो मोबाइल हॉस्पिटल की स्थापना की जा रही है। 100 बेड के इन अस्पताल में सभी स्वास्थ्य सुविधाएं होगी। केंद्रीय मंत्री मनसूख़ मांडवीया ने इस बात की जानकारी दी थी। दोनों मोबाइल अस्पताल को आपातकालीन स्थिति में कहीं भी ले जाया सकेगा। 
केंद्रीय मंत्री ने बताया की दोनों सचल अस्पतालों में से एक अस्पताल दिल्ली और एक चेन्नई में बनेगा। इन अस्पतालों में को किसी भी आपातकालीन स्थिति में हवाई मार्ग या ट्रेन के जरिये एक स्थान से दूसरे स्थान पर जे जाया जा सकेगा। उन्होंने यह भी बताया कि केंद्र सरकार स्वास्थय सेवाओं के पार्टी 'समग्र' दृष्टिकोण अपना रही है। कोरोना महामारी के स्वास्थ्य सेवा संबंधी बुनियादी ढांचे में सुधार करने का अवसर दिया, इसके चलते सरकार द्वारा 64 हजार करोड़ रुपए के निवेश के साथ 'प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन' की शुरुआत की गई थी।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इस योजना के तहत एक जिले में औसतन 90 से 100 करोड़ रुपए का खर्च किया जाएगा। इसकी मदद से आने वाली किसी भी आपदा से लड़ने में स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं में काफी सहायता होगी। इस योजना के तहत जिला स्तर पर 134 प्रकार कि जांच नि:शुल्क कि जाएंगी, जो कि एक काफी बड़ा कदम है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें