रिंगरोड फ्लायओवर ब्रिज के नीचे कोरोना टेस्टींग के लिए श्रमिकों लंबी कतारें

रिंगरोड फ्लायओवर पर टेस्टिंग के ‌लिए श्रमिकों की लंबी कतार

टेक्सटाईल मार्केटों में प्रवेश के लिए कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आवश्यक होने से रिंगरोड फ्लायओवर पर टेस्टिंग के ‌लिए काफी अफरातफरी का माहोल देखा गया।

टेक्सटाईल मार्केटों में वेक्सीन सर्टी या टेस्टींग प्रमाणपत्र आवश्क 
सूरत शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के आंकडे हर रोज नया रेकोर्ड तोड रहे है। शहर में वायरस को काबू में लेने के लिए मनपा आयुक्त ने टेक्सटाईल मार्केटो, डायमंड युनिटों तथा शहर के सभी कोमोर्शियल संस्थानों में प्रवेश के वेक्सीन का प्रमाणपत्र या कोरोना जांच का सर्टीफिकेट दिखाना आवश्यक कर दिया। मंगलवार को कमेला दरवाजा पर फ्लाय ओवर ब्रिज के नीचे कोरोना एन्टीजन टेस्ट कराने के लिए श्रमिकों की लंबी कतारे लगी। 
मनपा आयुक्त ने शहर में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हररोज नए नए नियम बनाए जा रहे है। टेक्सटाईल मार्केटों में 45 साल से अ धिक उम्र वाले व्यापारी तथा श्रमिकों के लिए वेक्सीन आवश्यक कर दी। जिन व्यापारी या श्रमिकों ने कोरोना की वेक्सीन लगाई है उन्हे मार्केट में प्रवेश दिया जायेगा। जिन्होने वेक्सीन नही लगवाई है उन्हे कोरोना टेस्ट करके निगेटिव आने के बाद ही मार्केट में प्रवेश दिया जा रहा है।
मंगलवार को सुबह कमेला दरवाज फ्लायओवर ब्रिज के निचे कई मार्केटों के श्रमिक एक साथ टेस्टींग के लिए एकत्रित होने पर यहा पर ही सोश्यल डिस्टंस्टींग की धज्ज‌ियां उडती नजर आयी। इसके बावजूद महानगरपालिका के अधिकारी, पुलिस स्टाफ और सिक्युरीटी जवानों ने मार्केटों में प्रवेश के अन्य रास्ते बंद क‌िए होने से व्यापारी और श्रमिकों को मार्केट में प्रवेश पाने के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पडा। 
टेक्सटाईल मार्केटों में व्यापारियों की अग्रणी संस्था फोस्टा ने मनपा आयुक्त बंछा निधि पानी से मांग की है की मार्केटों में 25 से 45 साल के उम्र वाले व्यापारी और श्रमिकों की संख्या अधिक होने से उन्हे भी वेक्सीन का लाभ मिले इस प्रकार की गाईडलाईन जारी की जाए। मार्केटों में सुबह प्रवेश पाने के लिए अफरातफरी का माहोल देखने को ‌मिला। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें