जाने आखिर क्यों वॉल्वो बस में यात्रा करने से मना कर रहा है ST निगम यूनियन

(Photo Credit : news18.com)

एसी वॉल्वो बस में सफर ना करने की दी हिदायत, बढ़ता है संक्रमण का खतरा

गुजरात में कोरोना संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना के केसों को काबू में करने के लिए राज्य सरकार द्वारा सभी प्रयास किए जा रहे हैं। बढ़ रहे कोरोना के कारण कई जगह पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। रास्तों पर आने जाने वालों की भीड़ भी कम हुई है, फिर भी कोरोना केस में कोई कमी नहीं आ रही। संक्रमण को कम करने के लिए तो कई जगहों पर स्वयं भी लोकडाउन भी लागू कर दिया गया है। फिर भी कोरोना के केसों में कोई कमी नहीं आ रही।
बढ़ते केसों को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा दूसरे राज्य में से आने वाले यात्रियों के लिए भी कड़े नियम लगा दिये गए है। अन्य राज्यों में से आने वाले यात्रियों के पास से अनिवार्य आरटी-पीसीआर टेस्ट मांगा जा रहा है। ऐसे में कोरोना के बढ़ते केस के बीच में एसटी निगम कर्मचारी महामंडल द्वारा आक्षेप किया गया है की एसटी के बस डेपों पर गाइडलाइन का पालन नहीं हो पा रहा है। इन गाइडलाइन का पालन ना हो सक्ने के कारण बस के ड्राइवर और कंडक्टर कोरोना संक्रमित हुये है। फिलहाल ऐसी वॉल्वो बस के 9 ड्राइवर और कंडक्टर का कोविड़ टेस्ट पॉज़िटिव आया है। 
प्रतिकारात्मक तस्वीर
गुजरात एसटी निगम के एसटी कर्मचारी महामंडल के महामंत्री धर्मेंद्र सोलंकी ने मीडिया के साथ बातचीत करते हुए कहा की जिला की वोल्वो बस के अंदर ऐसी होने के कारण कोरोना संक्रमण फैलने का डर ज्यादा लगा रहता है और यह सच भी साबित हुआ है। क्योंकि एसी वोल्वो बस के ड्राइवर और कंडक्टर कोरोना पॉजिटिव है। एसी वॉल्वो बस महामारी के दौरान यात्रियों और कर्मचारियों के लिए भी नुकसान कारक साबित हो रही है। वहीं आय के हिसाब से भी इन वॉल्वो बस पर 1 किलोमीटर पर ₹25 का नुकसान हो रहा है।
आगे बात करते हुए उन्होंने बताया कि एसी वोल्वो बस में यात्रियों को भी जोखिम बना रहता है। बस में यात्रियों के लिए संक्रमण बढ़ सकता है। ऐसे में उनका कहना है कि कोरोना महामारी से सभी को बचाने के लिए फिलहाल वोल्वो बस को चलाना नहीं चाहिए। एक तरफ कोरोना महामारी के बीच जहां सरकार की आय घटी है,  वहीं दूसरी तरफ एसटी निगम को भी करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है जिसके चलते दूसरी लहर में भी बस सरकार द्वारा बस सेवा चालू रखी गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें