कोरोना से खुद को बचाने के लिए किन चीजों का करें सेवन, जानिए विशेषज्ञ डॉ. ज्योत्सना से

ग्लूकोस वाला आहार त्यागें और प्रोटीन का करें सेवन, नियमित कसरत और भाप लेना जरुरी

वर्तमान में चल रहे कोरोना संक्रमण के कारण हर तरफ हाहाकार मचा हुआ हैं।  हर कोई त्राहिमाम त्राहिमाम की रात लगाए खुद को बचाए रखने की आशा और प्रार्थना कर रहे हैं। हर तरफ संक्रमित लोग ही दिखाई दे रहे, सोशल मीडिया से लेकर समाचारों तक हर जगह संक्रमित लोगों और कोरोना से मरने वालों के बारे में बताया जा रहा हैं। बद से बदत्तर हालात ये हैं कि हर जगह अस्पतालों में बिस्तर, आवश्यक दवाइयाँ और प्राणवायु ऑक्सीजन की भारी कमी देखी जा रही हैं। ऐसे में खुद को सुरक्षित रखना सबसे अहम हैं। इस समय जान हैं तो जहां हैं मोड एक्टिवेटिड हैं। दुनिया भर के विशेषज्ञ लोगों से कोरोना संबधित नियमों और दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए कह रहे हैं। साथ ही खुद के स्वास्थ्य को मजबूत बनाए रखने केतरीके भी बता रहे हैं।
ऐसे में सीनियर लीवर ट्रांसप्लांट कंसलटेंट और हेल्थ & फिटनेस कंसलटेंट डॉ ज्योत्सना वर्मा ने लोगों को घर बैठे कोरोना को हराने के लिए कुछ टिप्स दिए हैं। डॉ ज्योत्सना के अनुसार हमारे शरीर में जाने वाला कोरोना वायरस शरीर से ग्लूकोस लेकर खुद को विकसित और बड़ा बनाता हैं। ऐसे में कोरोना सम्बंधित कोई भी लक्षण दिखाई देने पर हमें उन आहारों का सेवन बंद कर देना चाहिए जिनसे शरीर को ग्लूकोस मिलता हो या फिर वो खाद्य सामग्री जो हमारे शरीर के भीतर जाकर ग्लुकोस का निर्माण करते हैं। इस बारे में जानकारी देते हुए डॉ ज्योत्सना कहती हैं कि वर्तमान में हमारा सबसे बड़ा दुश्मन कोरोना हमारे शरीर के भीतर जाकर फेफड़ों, लीवर और बाकि अंगों को प्रभावित करता हैं। ऐसे में उससे बचने के लिए उसकी कमजोरी को जानकर उसे हराना होगा! डॉ ज्योत्सना कहती हैं कि कोरोना वायरस हमारे फेफड़ों पर असर करता है और हमने भारी अस्थमा अटैक आ जाता हैं। इसके लिए हमारे शरीर में रहा ग्लूकोस जवाबदार हैं क्योंकि ये वायरस का खाना हैं। ऐसे में अगर हम अपने शरीर में ग्लूकोस नहीं डालते तो ये वायरस अपने आप अधिकतम चार दिनों में ख़त्म हो जाएंगे।
कोरोना से बचने के लिए डॉ ज्योत्सना कहती हैं कि इस समय डाल-चावल, रोटी और दूध जैसी चीजों का सेवन पूरी तरह बंद कर देना चाहिए। इन सभी में ग्लूकोस होता हैं। साथ ही बहुत से फलों का सेवन नहीं करना हैं। इस समय लोग सलाद, हरी सब्जियों का सेवन करना शुरू करें। साथ ही पनीर, अंडा जैसी चीजों का सेवन करें जिससे शरीर को अधिक मात्रा में प्रोटीन मिल सके। इस दौर में प्रोटीन शरीर की रोगप्रतिरक्षण क्षमता को बढ़ाने में सबसे अच्छा हथियार हैं। साथ ही डॉ ज्योत्सना लोगों को रोजक नियमित योग और कसरत करने की सलाह देती हैं। इसके साथ ही लोगों को दिन में कम से कम 5 बार भाप लेने को कहती हैं। उन्होंने दावा किया हैं कि उन्होंने इसी तरीके से बहुत से मरीजों का इलाज किया हैं।
(सुचना: ये सम्पूर्ण जानकारी डॉ ज्योत्सना के विचार पर आधारित हैं। इस संबंध में लोकतेज किसी भी तरह से जिम्मेदार नहीं है!)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें