किशन भरवाड़ हत्याकांड: जाँच में सामने आई चौंकाने वाली जानकारी, जामनगर के एक और युवक की हत्या की थी योजना, पाकिस्तान से जुड़ें है आरोपी के तार

(Photo Credit : gujarati.abplive.com)

सोशल मीडिया पर एक वीडियो के कारण मुस्लिम धर्म के लोगों ने की किशन की बीच सड़क पर गोली मार कर हत्या

पिछले मंगलवार धंधुका में देर रात हुए किशन भरवाड़ हत्याकांड में नई जानकारी सामने आई है। किशन हत्याकांड मामले में पुलिस ने अपनी जांच तेज कर दी है। पुलिस को आशंका है कि हत्या में पकड़े गये दोनों आरोपियों और एक मौलाना के अलावा छह अन्य मौलवी भी शामिल हो सकते हैं। जांच के दौरान पुलिस को यह भी जानकारी मिली कि किशन के अलावा जामनगर में भी एक युवक की हत्या की योजना बनाई गयी थी।
आपको बता दें कि किशन भारवाड़ की पिछले मंगलवार को अहमदाबाद के धंधुका में हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने बुधवार को शब्बीर और इम्तियाज को गिरफ्तार किया। मास्टरमाइंड मौलवी अयूब को भी शनिवार को गिरफ्तार किया गया था। मौलवी अयूब की गिरफ्तारी के बाद हुई पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। जिसमें मौलवी ने शब्बीर को किशन को मारने के लिए कहा। मौलवी ने आरोपी को हथियार भी सौंपे। जमालपुर मस्जिद में हत्या की योजना बनाई गई थी। शब्बीर और मौलवी मस्जिद में हत्या की चर्चा चल रही थी। साथ ही घटना से पहले शब्बीर मृतक किशन भरवाड़ के लिए 5 दिन से रेकी कर रहा था। इतना ही नहीं किशन हत्याकांड में पाकिस्तान का संबंध सामने आया है। पुलिस पूछताछ में पता चला कि मौलाना के तार पाकिस्तान स्थित संगठनों से जुड़े हुए थे। इस हत्याकांड के लिए अलग-अलग संगठन जिम्मेदार हैं।
उल्लेखनीय है कि मामले में दिल्ली के मौलवी कमल गनी उस्मानी के नाम के साथ भारत में जिहादी कट्टरपंथी एजेंडे पर काम करने वाले संगठनों की संलिप्तता भी सामने आई है। शब्बीर कमल सोमीडिया के जरिए गनी उस्मानी के संपर्क में था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें