जूनागढ़ : इस कारण बंद किया गया गिरनार का रोपवे

गुजरात के जुनागढ़ के गिरनार की तलहटियों में बने रोपवे की विहंगम तस्वीर (File Photo: IANS)

मौसम के अनुकूल होने के बाद रोपवे सेवा शुरू की जाएगी

जूनागढ़ में गिरनार पर शुरू रोपवे को फिलहाल बंद करने का निर्णय लिया गया। मिली जानकारी के अनुसार गिरनार पर रोपवे बंद करने का निर्णय लिया गया। इसके पीछे खराब मौसम जिम्मेदार है। ख़राब मौसम के कारण जूनागढ़ में गिरनार रोपवे को बंद करने का निर्णय लिया गया। इस मौसम में गिरनार पर्वत पर तेज हवा चल रही है जो यात्रियों की सुरक्षा के लिए संकट पैदा कर सकती है। मौसम के अनुकूल होने के बाद रोपवे सेवा शुरू की जाएगी।
आपको बता दें कि यह प्रधानमंत्री मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट्स में से एक हैं। गिरनार की तलहटी से अंबाजी मंदिर तक (2.3 किलोमीटर) ये रोपवे बना है। इस रोपवे के शुरू होने के बाद इस सफर को महज 7 मिनट में तय किया जा सकता है। साथ ही इस रोपवे में 24 ट्रॉली लगाई गयी है। इनमें से एक ट्रॉली में आठ लोग बैठें सकते हैं। इस हिसाब से एक फेरे में कुल 192 यात्री उपर जा जा सकते हैं। इसमें छह नंबर का टॉवर सबसे ऊंचा तकरीबन 67 मीटर है जो कि गिरनार के एक हजार सीढ़ी के पास स्थित हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें