यूपी में पार्टी से बगावत कर चुनाव लड़ने वालों पर चला हंटर

(Photo : IANS)

अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी, फैसले को टालने वाले कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहे - वरिष्ठ अधिकारी

भदोही, 12 अप्रैल (आईएएनएस)| पंचायत चुनाव में जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है। लेकिन पार्टी बागी उम्मीदवारों से दुखी है। यूपी में भाजपा ने अब बागी उम्मीदवारों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है। पार्टी ने भदोही जिले के जिला पंचायत चुनाव में पार्टी के चुने हुए उम्मीदवारों के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए भदोही विधायक के तीन रिश्तेदारों सहित अपने 11 पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को निष्कासित कर दिया है।
पार्टी के भदोही जिला अध्यक्ष विनय श्रीवास्तव ने काशीक्षेत्र के अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव को लिखे अपने पत्र में इन 11 व्यक्तियों के खिलाफ पार्टी विरोधी व्यवहार के लिए सख्त कार्रवाई की सिफारिश की थी। उन्होंने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता खत्म करने और छह साल के निष्कासन की सिफारिश की थी।
जिनको निष्कासित किया गया है उनमें सचिन त्रिपाठी, चंदा भूषण त्रिपाठी, अनिरुद्ध त्रिपाठी (भदोही के भाजपा विधायक रवींद्र नाथ त्रिपाठी के भाई), विभूति तिवारी, कृष्ण सिंह, विकास तिवारी, विपिन दुबे, पप्पू सोनकर, राजन यादव, राजेंद्र पाल बघेल, और शरद चंद पांडे शामिल हैं। ये नेता पंचायत चुनाव में भदोही के अलग-अलग वाडरें से चुनाव लड़ रहे हैं।
पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, "हम बागी उम्मीदवारों पर शिकंजा कसने जा रहे हैं। अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी और जो कोई भी पार्टी के फैसले को टालेगा, उसे कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए।"

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें