खौफनाक वीडियो : जब एक इरानी शख्स अपनी पत्नी की हत्या कर उसका सिर हाथ में लेकर चहल-कदमी करता दिखा!

(Photo Credit : nypost.com)

पुलिस ने किया आरोपी को गिरफ्तार, मृतक युवती पर मात्र 12 साल की उम्र में ही चचेरे भाई के साथ शादी के लिए दबाव डाला गया था

हमने पति द्वारा पत्नी को परेशान या प्रताड़ित करने की घटनाओं के बारे में सुनते रहते है पर इन समय ईरान से एक विचलित कर देने वाली खबर सामने आई है। ईरान में एक पति ने ना सिर्फ अपनी 17 साल की पत्नी की हत्या कर दी बल्कि उसके कटे हुए सिर को लेकर सड़कों पर घूमता हुआ नजर आया। किसी ने इस घटना को अपने फोन पर रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया और अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस घटना से देशभर के लोगों में आक्रोश है। 
ईरान की समाचार एजेंसी आईएसएनए के अनुसार पुलिस को संदेह है कि दक्षिण-पश्चिमी शहर अहवाज में 17 वर्षीय मोना हेदरी नाम की युवती को उसके पति और बहनोई ने मार डाला था। इस हत्या के पीछे पत्नी के एडल्टरी को जिम्मेदार बताया जा रहा है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हत्या का मकसद "पारिवारिक मतभेद" था। पुलिस ने इस मामले में दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। ईरानी मीडिया के अनुसार, जिस युवती की हत्या हुई उसकी शादी महज 12 साल की उम्र में हुआ था। हत्या के समय उसका एक तीन साल का बेटा था। फिलहाल इस घटना की हर और निंदा हो रही है। 
आपको बता दें कि लोगों का मानना है कि ऐसे मामलों में सख्त कानून बनना चाहिए। वहीं, इस मामले ने महिलाओं के मामलों के लिए ईरान के उपाध्यक्ष एन्सिह खजाली को संसद में तत्काल उपाय करने और ऐसे मामलों को रोकने के लिए जागरूकता बढ़ाने के लिए अधिकारियों से आह्वान करने के लिए प्रेरित किया। ईरानी अखबारों और सोशल मीडिया ने इस हत्या के कारण उठे सदमे और रोष की लहर को प्रमुखता से कवर किया गया है। वर्तमान में ईरान में लड़कियों शादी के लिए कानूनी उम्र 13 साल है और अब हेदरी की हत्या के बाद, लोग घरेलू हिंसा के खिलाफ महिलाओं की सुरक्षा के लिए कानूनों में सुधार और शादी के लिए कानूनी उम्र बढ़ाने के लिए मांग फिर से उठ रही है। 
आपको बता दें कि ये कोई पहला मामला नहीं है जब किसी ने ऐसे बर्बरता के साथ किसी महिला का क़त्ल किया हो। मई 2020 में एक व्यक्ति ने अपनी 14 वर्षीय बेटी को एक अन्य तथाकथित ‘ऑनर किलिंग’ में मार डाला, जिससे सार्वजनिक आक्रोश फैल गया था। उस वर्ष बाद में उसे नौ साल जेल की सजा सुनाई गई थी। सरकारी शार्क दैनिक समाचार पत्र के अनुसार 2019 में प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया कि ईरान में सालाना औसतन 375 से 450 ऑनर किलिंग की जाती है।"

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें