होटल में वेटर का करती थी काम, आज यह खिलाड़ी है ओलंपिक में पदक की प्रबल दावेदार

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

माता-पिता के अलग हो जाने पर छोटी उम्र से ही आ गई थी परिवार की जिम्मेदारियाँ

जापान में चल रहा टोक्यो ओलंपिक अपने चरम पर है। हर खिलाड़ी अपने देश के लिए पदक जीतने की पूरी कोशिश कर रहा है। ऐसी ही एक प्रतियोगी है अमेरिका की लॉन्ग जंप की प्लेयर क्यूनेशा बर्क्स। क्यूनेशा बर्क्स की ओलंपिक तक की सफर बिलकुल भी आसान नहीं थी। आज से 10 साल पहले वह मेकडोनाल्ड रेस्टोरंट में एक वेटर का काम करके अपना गुजारा करती थी। हालांकि आज वह अमेरिका के लिए पदक की एक प्रबल दावेदार है। 
मात्र 16 साल की उम्र से ही क्यूनेशा ने अपने परिवार को सपोर्ट करने के लिए मेकडोनाल्ड में वेटर के तौर पर काम करना शुरू किया था। क्यूनेशा के माता-पिता अलग हो गए थे, जिसके बाद उसकी माता ने दूसरी शादी की थी। छोटी से उम्र से ही क्यूनेशा ने अपने घर की जिम्मेदारियों को उठाना शुरू कर दिया था। वह अपनी चोटी बहनों को स्कूल ले जाती और घर के अन्य काम भी खुद ही करती थी। इसी दौरान क्यूनेशा को बास्केटबोल में रुचि पैदा हुई। पर बास्केटबोल में अपनी गेम सुधारने के लिए क्यूनेशा ने पहले दौड़ना शुरू किया। जिसे देख उसके कोच ने उसे रनिंग में करियर बनाने की सलाह दी। 
कोच के मार्गदर्शन के बाद क्यूनेशा ने रनिंग में ध्यान देना शुरू किया। रनिंग के साथ-साथ ही क्यूनेशा को लॉन्ग जंप के प्रति भी आकर्षण पैदा होने लगा। जिसके चलते उसने इसमें भी प्रेक्टिस शुरू की। कड़ी मेहनत के बाद क्यूनेशा 20 फीट तक की जंप कर सकती थी। साल 2019 में अमेरिका में आयोजित ट्रेक एंड फील्ड चैम्पियनशिप के दौरान क्यूनेशा के दादा का देहांत हो गया था। क्यूनेशा कहती है कि दादा की मृत्यु से उन्हें तकलीफ तो काफी हुई पर उससे वह मानसिक तौर पर भी काफी मजबूत बन गई थी। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें