क्या आपने भी अपने वाहनों में लगा रखी है काली फिल्म, तो अब समय आ गया है हटा दो!

(Photo Credit : dnaindia.com)

पिछले दो सालों में काली फिल्म लगाने वाले कार चालकों से वसूला गया 5.98 करोड़ का जुर्माना, 1,78,948 मामले दर्ज

धीरे धीरे देश में यातायात के नियमों को कड़ा किया जा रहा है। इसका उद्देश्य सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में कमी लाना और लोगों को यातायात के नियमों के प्रति जागरूक करना है। भारी जुर्माने के कारण लोग जुर्माना भरने के बजाय यातायात नियमों का पालन करना पसंद करते हैं, लेकिन फिर भी कुछ युवा ऐसे है जो अभी भी नियमों का पालन नहीं कर रहे है। कई लोग ऐसे है, जो अपने वाहनों में काली फिल्म लगा रहे हैं। गुजरात में काली फिल्म लगाना गैरकानूनी है, जिन लोगों ने अपने वाहनों के शीशे पर काली फिल्म लगाई है, उन पर राज्य पुलिस द्वारा कार्यवाही की जा रही है और ऐसे लोगों पर जुर्माना लगाया जाता है और साथ ही काली फिल्में तुरंत हटा दी जाती हैं।
आपको बता दें कि गुजरात विधानसभा में भी वाहनों में काली फिल्म लगाने और उनसे जुर्माना वसूलने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के मुद्दे पर चर्चा हुई। पिछले दो वर्षों में, गुजरात सरकार ने वाहनों में काली फिल्म लगाने वालों पर 5.80 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है और पिछले दो वर्षों में 1,78,948 अपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं।
इस कारण गैरकानूनी हैं काली झिल्ली का उपयोग
गौरतलब है कि ज्यादातर लोग अपने आप को धुप से बचाने के लिए वाहनों में काली झिल्ली का उपयोग करते हैं। लेकिन अधिकांशतः वाहनों में लगाई गई झिल्ली तय मापदंड से अधिक डार्क होने के कारण गुजरात में यह काली फिल्म अवैध है और वाहनों में काली फिल्म का उपयोग करना अपराध है। साथ ही वाहनों में काली फिल्म लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए राज्य पुलिस द्वारा समय-समय पर विभिन्न प्रकार के अभियान चलाए जाते हैं। पिछले दो वर्षों में, गुजरात में इस प्रकार के 1,78,948 मामले दर्ज किए गए हैं और वाहन चालकों से कुल 5,80,468 रुपये की वसूली की गई है।
दो वर्षों का राज्य में अपराधिक लेखा-जोखा
इसके साथ साथ सरकार द्वारा विधानमंडल को कुछ अन्य जानकारी भी दी गई थी। दो वर्षों में राज्य में 198.30 करोड़ रुपये की विदेशी शराब जब्त की गई है। 3.65 करोड़ मूल्य की देसी शराब और 13.18 करोड़ मूल्य की बीयर की टिन जब्त की गई है। इसके अलावा 68.60 करोड़ रुपये के भांग और ड्रग्स जब्त किए गए हैं। इनके अलावा राज्य में प्रतिदिन 3 हत्याएं, 30 चोरी, 2 लूट और 4 बलात्कार की घटनाएं हुई हैं। सरकार ने कहा कि राज्य में दो साल में 373 हिट-एंड-रन की घटनाएं दर्ज की गईं, जिसमें 217 लोग मारे गए और 1,946 करोड़ रुपये खनिज चोरों से बरामद किए गए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें