गुजरात : बेमौसमी बरसात से किसानों में चिंता, फसलों के खराब होने की आशंका, भावनगर में मूंगफली का जत्था भीगा

(Photo : IANS)

कल रात से राज्य के कई हिस्सों में बेमौसमी बरसात, अचानक बदला माहौल

कल देर रात राज्य में अचानक शुरू गैर-मौसमी बारिश के कारण माहौल बदला हुआ है और अभी भी इस बेमौसमी बारिश का संकट बना हुआ है। मौसम विभाग ने पहले ही इस बारिश को लेकर पूर्वानुमान लगाया था। गैर मौसमी बारिश को लेकर सभी जिला कलेक्टरों को अलर्ट कर दिया गया है।
आपको बता दें कि कम दबाव और पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से इसकी भविष्यवाणी की गई है जो 1 से 2 दिसंबर तक रहेगा। ऐसे में किसानों के लिए फसलों को लेकर एडवाइजरी जारी की है। अहमदाबाद, दाहोद, सूरत, नवसारी, डांग, तापी, अहवा, मेहसाणा, पाटन, अमरेली, भावनगर, पोरबंदर में बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार सूरत जिले में गैर-मौसमी बारिश हो रही है। सुबह से ही मौसम बदल रहा है और बूंदाबांदी हो रही है। जिले के कामरेज में सुबह से ही बारिश हो रही है। पूरे जिले में काले बादल छाए रहे।
वहीं राजकोट शहर और जिले में माहौल बदल गया। जिले के गोंडल तालुका के कुछ गांवों में बारिश हुई। राजकोट जिले के ग्रामीण इलाकों में शाम तक बारिश होने की संभावना है। बेमौसम बारिश हुई तो जीरे की ज्यादातर फसल को नुकसान होगा। अगर बेमौसम बारिश हुई तो सर्दियों की फसलों को भारी नुकसान होने की संभावना है। बेमौसम बारिश के पूर्वानुमान से राजकोट जिले के किसान चिंतित हैं। बादल छाए रहने से शहरी जनजीवन प्रभावित हो रहा है।
जामनगर में मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार आज सुबह से पूरे शहर और जिले में मौसम बदल गया। शहर में सुबह से ही बादल छाए रहे। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के बाद मार्केटिंग यार्डों द्वारा एहतियाती कदम उठाए गए थे। कलावाड़ मार्केटिंग यार्ड आज से अनिश्चितकाल के लिए बंद है। आज से यार्ड में कोई लैंडिंग या सौदेबाजी नहीं होगी। अगले निर्देश के बाद एपीएमसी शुरू की जाएगी। यार्ड के अध्यक्ष युवराज सिंह जडेजा ने किसानों से वितरण के लिए नहीं आने की अपील की। 5 नवंबर से नई घोषणा होने तक हापा यार्ड से मूंगफली के राजस्व को रोक दिया गया है। साथ ही हापा यार्ड में प्याज और मिर्च के राजस्व को भी अगली सूचना तक निलंबित कर दिया गया है।
वहीं अमरेली के खंभा तालुका में माहौल बदल गया। पूरी रात सर्दी के मौसम में बारिश होती रही। खंभा में धीमी बारिश से किसानों में बेचैनी है। किसान धूप, जीरा, चना और गेहूं सहित अपनी फसलों को नुकसान होने से डरे हुए हैं। खंभा बस अड्डा क्षेत्र बारिश के पानी से भर गया। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार देर रात से नर्मदा जिले में गैर-मौसमी बारिश हो रही है। बेमौसम बारिश से फसलों को नुकसान होने का अंदेशा है। बेमौसम बारिश से नर्मदा जिले के किसानों को अरहर, केला और गन्ने सहित फसलों को नुकसान होने का खतरा है। वडोदरा में भी देर रात से बारिश शुरू हो गई। ज्यादातर लोग घर से बाहर जाने से बच रहे हैं। पूरे छोटाउदेपुर जिले में हल्की गैर-मौसमी बारिश हुई। छोटाउदेपुर, बोडेली, सांखेड़ा, नसवाड़ी, क्वांट, पविजेटपुर तालुका में बारिश हुई। कपास, मक्का, अरहर, धान आदि फसलों में नुकसान की आशंका है।
भावनगर में भी कल रात से मौसम बदल गया है। रात भर हुई बूंदाबांदी के कारण मंडी में मूंगफली का जत्था भीग गया। मूंगफली के 25000 से अधिक यार्ड में खुले रखे हुए थे। यार्ड में मूंगफली के अलावा प्याज भी गीली हो गई है। आंधी के बाद हुई बेमौसम बारिश से किसान प्रभावित हुए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें