गुजरात : भरूच में 27 युवकों को स्थल पर ही रोजगार नियुक्ति पत्र दिए गए

भरुच स्थित ओमकारनाथ ठाकुर हॉल में रोजगार नियुक्ति पत्र दिए गए

जीवन में स्वस्थ जीवन के साथ-साथ रोजगार भी देता है योग

 राज्य सरकार के दूरदर्शी फैसलों के कारण कोरोना काल में भी गुजरात उद्योग और रोजगार के मामले में सबसे आगे है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व के तहत प्रवर्तमान राज्य सरकार के पांच वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर 6 अगस्त को रोजगार दिवस का आयोजन भरुच स्थित ओमकारनाथ ठाकुर हॉल में  राज्य के योग बोर्ड के चेयरमैन शीशपाल सिंह राजपूत एवं वागरा विधायक अरुण सिंह राणा की प्रेरक उपस्थिति में समारोह का आयोजन किया गया। 
रोजगार दिवस के अवसर पर राज्य योग बोर्ड के अध्यक्ष  शीशपाल सिंह राजपूत ने कहा कि सरकार सत्ता के लिए नहीं बल्कि सेवा के लिए है, सरकार ने पांच साल के विकास कार्य किए हैं।
युवाओं के लिए रोजगार के अवसरों पर बोलते हुए, अध्यक्ष ने कहा कि योग जीवन में  स्वस्थ जीवन के साथ-साथ रोजगार भी देता है। उन्होंने उपस्थित सभी से योग की शिक्षा प्राप्त कर 6000 रुपये प्रतिमाह रोजगार दिलाने का अनुरोध किया।
अध्यक्ष ने युवाओं को योग करने से होने वाले फायदों की जानकारी देते हुए कहा कि जीवन में हमेशा फिट, स्वस्थ, निरोगी रहना है तो सुबह 1 घंटा योग करें, योग करेंगे तो शक्ति मिलेगी, संस्कारी बनेंगे और अपनी बुद्धि को बढ़ाएं। 
अध्यक्ष ने युवाओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि जिनके पास शक्ति है वे ही देश चलाएंगे और उस शक्ति को लाने के लिए प्रतिदिन योग करना आवश्यक है। रोजगार के लिए जिले से भर्ती किए गए युवाओं को प्रतिदिन योग करने का संकल्प दिलाया गया और उपस्थित लोगों से संभावित कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए योग करने की अपील की।
वागरा विधायक अरुण सिंह राणा ने युवाओं को बधाई दी और सरकार के पांच साल के विकास कार्यों की जानकारी दी। भरूच नगर पालिका के अध्यक्ष अमिताभई चावड़ा ने सामयिक भाषण दिया। प्रान्तीय अधिकारी  एन.आर. प्रजापति ने स्वागत भाषण दिया और इस बार मुख्यमंत्री की उपस्थिति में लोगों ने सूरत में राज्य स्तरीय कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भी देखा। 
रोजगार दिवस के अवसर पर राज्य योग बोर्ड के अध्यक्ष शीशपाल सिंह राजपूत व वागरा के विधायक अरुण सिंह राणा, पदाधिकारियों एवं पदाधिकारियों ने इस मौके पर भरूच जिले के 27 युवक-युवतियों को रोजगार प्रमाण पत्र प्रदान किया। समारोह में रोजगार विभाग के अधिकारी, पूर्व विधायक रमेशभाई मिस्त्री, जिले के नेता सर्वश्री दिव्येशभाई पटेल, निर्लभाई पटेल, फतेहसिंह गोहिल, अधिकारी और रोजगार चाहने वाले शामिल थे। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें