गुजरात : भरूच के ‌अस्पताल में आग के कारण को लेकर असमंजस, चल रही ये चर्चाएं

मृतक नर्स के भाई का दावा, आग लाइटर से निकली चिंगारी के कारण लगी

भरूच के बायपास इलाके में स्थित पटेल वेल्फेर अस्पताल के कोविड सेंटर के आईसीयू में शुक्रवार को आग लग जाने के कारण 18 लोगों की मौत हो गई थी। तंत्र द्वारा वेंटिलेटर में हुये स्पार्क के कारण आग लगी होने की बात कही थी। हालांकि इसी बीच अस्पताल में काम करने वाली एक नर्स के छोटे भाई ने हकीकत में यह घटना कैसे हुई इस बारे में एक वीडियो वायरल किया था। जिसके कारण लोगों में सनसनी फ़ेल गई है। 
स्थानीय समाचार पत्र दिव्य भास्कर ने मृतक नर्स के भाई के हवाले से बताया है कि आईसीयू के वोर्ड नंबर 5 में वेंटिलेटर में स्पार्क हुई होने की बात पूरी तरह से गलत है। वोर्ड में रहें लाईटर के कारण यह समग्र अग्निकांड हुआ था। ऐसा नर्स के भाई का कहना है। इसलिए घटना में निष्पक्ष जांच हो और उनकी बहन के अलावा अन्य 17 लोगों को भी न्याय मिलना चाहिए। मृतक नर्स माधवी के भाई ने कहा की घटना के दिन आईसीयू में फ़ारिगा, उसकी बहन माधवी, चार्मी और जैमिनी थी। डॉक्टर सहित अन्य स्टाफ हर दिन रात के 1 से 1:30 बजे के आसपास खाने के लिए जाते थे। पर उस दिन वह रात को पौने बारह बजे के आसपास ही चले गए थे। जब उन्होंने अपनी बहन के साथ काम करने वाली नर्सों से बात की तो पूरी घटना सामने आई थी। 
मृतक के भाई ने कहा के उसकी बहन के साथ काम करने वाली नर्स जैमिनी के साथ जो उसकी बात हुई उसके अनुसार माधवी और फ़ारिगा PPE किट पहनकर आईसीयू में काम कर रही थी। इस दौरान टेबल पर पड़ा लाईटर अचानक नीचे गिरा और वहाँ स्पार्क हुआ। यह चिंगारी फ़ारिगा की पीपीई किट पर आई और वह चिल्लाने लगी। इसलिए माधवी उसे बचाने के लिए दौड़ी। इस दौरान वह पानी डालकर आग बुझाने के लिए बाथरूम की तरफ दौड़े। इसी समय आग के कारण बिजली भी चली गई और आईसीयू में अंधेरा छा गया। इस दौरान जैमिनी दरवाजे के पास ही थी इसलिए वह जल्दी से बाहर निकल गई, जबकि चार्मी पिछले काफी समय से यहाँ काम कर रही थी। इसलिए अंधेरे में भी वह बाहर जा पाई। 
अस्पताल के आईसीयू में लाईटर कहाँ से आया और कौन उसे रखकर गया इस बारे में सभी नर्स अंजान थी। घटना के बाद चार्मी को किसी डॉक्टर ने अस्पताल की प्रतिष्ठा का सवाल है कहकर वेंटिलेटर में स्पार्क होने के कारण आग लाग्ने की बात बिलने कहा था। इसलिए चार्मी ने भी अस्पताल के दबाव में आकर शनिवार को ऐसा निवेदन दिया था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें