सूडोकू के गोडफाधर माकी काजी का हुआ निधन, पीत्त नली के कैंसर से थे पीड़ित

(Photo Credit : tv9bharatvarsh.com)

कंपनी की वैबसाइट पर दी गई जानकारी

दुनिया भर के सबसे अधिक खेले जाने खेलों में से एक सूडोकू के गोदफाधर माने जाने वाले माकी काजी का 69 साल की उम्र में निधन हो गया। एक पजल प्रेमी के तौर पर पहचाने जाने वाले माकी जाकी ने अपनी पहेली की पत्रिका की स्थापना करने से पहले एक प्रिंटिंग कंपनी में काम किया था। उन्होंने दुनिया के सामने सूडोकू  को पेश किया। उनकी कंपनी निकोली की वैबसाइट पर इस बारे में जानकारी दी गई। कंपनी की वैबसाइट पर जानकारी देते हुये कहा गया कि दुनियाभर के पहेलीप्रेमी द्वारा उन्हें काफी प्यार दिया गया। 
माकी काजी कि मृत्यु का कारण उनकी पिट नली का कैंसर था। बता दे कि करीब दो दशक पहले सूडोकू जापान के बाहर काफी लोकप्रिय हुआ। विदेशी समाचारों द्वारा लगातार इसे छापने के कारण इसे काफी लोकप्रियता मिली थी। इस खेल से व्यक्ति की मानसिक क्षमता का विकास किया जाता है। 2006 से हर साल एक चैम्पियनशिप का आयोजन किया जाता है। जुलाई में अपनी स्वास्थ्य कारणों के चलते अपनी कंपनी के प्रमुख पद से अपना इस्तीफा दे दिया था। 
साल 2007 में बीबीसी के साथ किए एक इंटरव्यू में माकी ने कहा कि वह हर बार अपनी पहेली को और भी अधिक बेहतर और मजेदार बनाने का प्रयास करते रहते है। उन्होंने कहा कि यह कभी भी पैसे कमाने के बारे में नहीं था। वह हर समय कुछ नया करने कि कोशिश करने की कोशिश करते रहते है। बता दे की दुनिया बाहर में तकरीबन 10 करोड़ लोग सूडोकू खेलते है। सूडोकू एक तरह का तर्क वाला खेल होता है, जिसके लिए काफी दिमाग लगाना पड़ता है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें