फर्जी वैक्सीन सर्टिफिकेट बना परिवार की मौत का कारण

(Photo Credit: hindi.news18.com)

फर्जी वैक्सीन सर्टिफिकेट बनवाने वाले शख्स ने पहले अपने पूरे परिवार की हत्या फिर की आत्महत्या

कहते है झूठ का महल बहुत कमजोर होता है इसलिए एक झूठ को छिपाने के लिए सौ झूठ बोने पड़ते है। ऐसे में अगर कोई शख्स कोई बड़ा झूठ बोल दे तो उसके जेहन में एक डर हमेशा बैठा रहता है और इस डर के आतंक में को कोई भी अपराध कर सकता है। ऐसा ही कुछ हुआ जर्मनी में एक शख्स के साथ जिसने नकली कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट के राज को बनाएं रखने के लिए अपने पुरे परिवार की हत्या कर दी। अपने झूठ के सामने आने के डर से शख्स ने पहले अपने पूरे परिवार की हत्या की, फिर खुद भी आत्महत्या कर ली। दरअसल शख्स ने कुछ दिन पहले अपनी पत्नी का फर्जी वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट बनवाया था। उसे इस बात का डर था कि मामला खुलने पर परिवार को अलग कर दिया जाएगा।
डेली मेल की खबर के अनुसार ये मामला बर्लिन के दक्षिण में कोएनिग्स वुस्टरहाउज़ेन का जहाँ शख्स ने पहले अपने पूरे परिवार की हत्या दी। पुलिस को इस घटना की सूचना पड़ोसियों से मिली। पुलिस ने घर से पति-पत्नी और तीन बच्चियों की लाशें बरामद हुईं। बच्चियों की उम्र 10, 8 और 3 साल बताई जा रही है। पुलिस को घटना स्थल से एक सुसाइड नोट मिला जिसमें डेविड ने लिखा, ‘मैंने अपनी पत्नी लिंडा के लिए जाली वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट बनवाया था।’
गौरतलब है कि जर्मनी में दो हफ्ते पहले नया कानून बना है। इसके तहत फेक कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट बनवाना एक क्राइम है। ऐसा करने पर एक साल की जेल और जुर्माना या दोनों की सजा का प्रावधान है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि इस शख्स ने पहले अपनी पत्नी और बच्चियों को गोली मारी, फिर खुद को मार लिया। पुलिस को घर से एक गन भी मिली है। हालांकि, अभी साफ नहीं कहा गया कि इसी गन से गोली चली थी। पुलिस ने कहा कि शवों का पोस्टमार्टम होना है। इसके बाद ही आगे की स्थिति साफ हो पाएगी और जांच की दिशा तय होगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें