पुणे मेट्रो द्वारा मेट्रो में यात्रा करने वाले लोगों के लिए जारी की शिष्टाचार नियमावली, लोगों से की यह अपील

पुणे मेट्रो द्वारा मेट्रो ट्रेन के उद्घाटन के एक महीने के बाद ट्रेन और स्टेशन परिसर को स्वच्छ रखने और यात्रियों के लिए यात्रा को सरल और सुगम बनाने के लिए एक अभियान शुरू किया गया है। जिसके अंतर्गत मेट्रो द्वारा 'मेट्रो मेनर्स' नामक एक पुस्तक को प्रकाशित किया गया है। इस पुस्तिका में यात्रियों के लिए थूकने से लेकर कचरा फेंकने तक के बारे में निर्देश दिये गए है। जिससे की यात्री स्वच्छ मेट्रो यात्रा का आनंद ले सके।
इसके अलावा मेट्रो द्वारा पैम्फलेट में अन्य भी कई निर्देश दिये गए है। द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, अन्य निर्देश कहते हैं कि लोगों को मेट्रो में यात्रा करते समय फोन कॉल और म्यूजिक प्लेयर से दूसरों को परेशान नहीं करना चाहिए। पैम्फलेट में यह भी कहा गया है कि फीडरों को बस या ट्रेन में अपना रास्ता नहीं रोकना चाहिए। बोर्डिंग से पहले दूसरों के बाहर निकलने की प्रतीक्षा करें। फीडर बस या मेट्रो में बुजुर्गों, महिलाओं और विकलांग सवारों के लिए सीटें आरक्षित हैं। बस या ट्रेन में खड़े होते समय बहुत सावधान रहें।
पुणे मेट्रो के पब्लिक रिलेशन मैनेजर हेमंत सोनवने ने इस बारे में बताया कि भले ही 'मेट्रो मेनर्स' में दी गई सूचना काफी सामान्य और मामूली लगे। पर मेट्रो की सेवाओं को हर किसी के लिए श्रेष्ठ बनाने के लिए यह काफी महत्वपूर्ण है। इन सभी शिष्टाचारों का पालन करना ही नागरिकों और मेट्रो के हिट में रहेगा। बता दें कि 6 मार्च को खुद प्रधानमंत्री मोदी द्वारा मेट्रो का उद्घाटन किया गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें