इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया एशेज सीरीज : जो रूट ने तोड़ा तेंदुलकर का बड़ा रिकॉर्ड, सुनील गावस्कर को भी पछाड़ा

(Photo : IANS)

रूट ने एक साल में सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने के मामले में सचिन और गावस्कर को पीछे छोड़ दिया

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे एशेज 2021-2022 का दूसरा टेस्ट एडिलेड में खेला जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने दूसरे एशेज टेस्ट की पहली पारी में 62 रन बनाए। इसी के साथ रूट ने पूर्व महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का शानदार रिकॉर्ड तोड़ दिया है। रूट ने एक साल में सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने के मामले में सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ दिया है। रूट ने इस साल 1600 से ज्यादा टेस्ट रन बनाए हैं। वहीं तेंदुलकर ने किसी एक साल में सबसे ज्यादा 1562 टेस्ट रन बनाए हैं। इसके अलावा रूट ने एक साल में सबसे ज्यादा 1555 रन बनाने वाले सुनील गावस्कर को भी पीछे छोड़ दिया है।
आपको बता दें कि भारत के सचिन तेंदुलकर ने 2010 में 14 मैचों की 23 पारियों में 1562 रन बनाए, जिसमें 7 शतक और 5 अर्धशतक शामिल हैं। वहीं रूट ने अब तक 14 मैचों की 26 पारियों में 1606 रन बनाए हैं। उन्होंने 6 शतक और 3 अर्धशतक बनाए हैं। रूट के पास अब दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज ग्रीम स्मिथ को पछाड़ने का मौका है, जिन्होंने 2008 में 1656 रन बनाए थे।
रूट ने पहले टेस्ट क्रिकेट में एक कैलेंडर वर्ष में इंग्लैंड के बल्लेबाज द्वारा सबसे अधिक रन बनाने के मामले में पूर्व कप्तान माइकल वॉन को भी पीछे छोड़ दिया। माइकल वॉन ने 2002 में 1481 टेस्ट रन बनाए थे। लेकिन अब रूट एक साल में सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वाले इंग्लैंड के पहले बल्लेबाज भी बन गए हैं। पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ एक कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने की सूची में सबसे ऊपर हैं, उन्होंने 2006 में सिर्फ 11 टेस्ट में 99.33 की औसत से 1788 रन बनाए थे।
वेस्टइंडीज के महान विव रिचर्ड्स 1976 में 11 टेस्ट में 90.00 की औसत से 1710 रन के साथ दूसरे स्थान पर हैं। सुनील गावस्कर और तेंदुलकर क्रमशः 1555 रन (1979) और 1562 रन (2010) के साथ सातवें और छठे स्थान पर हैं। जबकि रूट अब चौथे स्थान पर हैं, उन्हें इस साल के अंत से पहले एक और मैच खेलना होगा, जिसमें वह मोहम्मद यूसुफ के रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं।
गौरतलब है कि इसके अलावा भी कई बड़े रिकॉर्ड सचिन के नाम आज भी कायम हैं। यह देखना बाकी है कि यह कब टूटेगा। वहीं मैच की बात करें तो ब्रिसबेन में हुए पहले टेस्ट को हारकर पांच मैचों की शृंखला में 1-0 से पीछे चल रही मेहमान टीम दूसरे टेस्ट में भी संघर्ष करती दिख रही है। पिंक बॉल टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बोर्ड पर 473 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया। जवाब में तीसरे दिन इंग्लैंड की पहली पारी 236 रन पर सिमटी। इसके बाद दिन का खेल समाप्त होने तक ऑस्ट्रेलिया ने 1 विकेट खोकर 45 रन बनाए. मेजबान टीम के पास अभी 282 रन की मजबूत बढ़त है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें