सब्जी मंडी में धनाधना फायरिंग, यूं बच गया कारोबारी (देखें सीसीटीवी फुटेज)

(Photo Credit : twitter.com)

बाइक पर सवार होकर आए बदमाशों ने बीच बाजार में की अंधाधुंध फायरिंग, निशाना चुकने से व्यापारी की बची जान

राजस्थान के कोचिंग सिटी के नाम से मशहूर कोटा में आज फिर एक बार फायरिंग की घटना सामने आई है। जहां एक सब्जी मार्केट में कुछ बदमाशों ने एक व्यापारी पर अंधाधुंध फायरिंग की थी। हालांकि बदमाशों का निशाना चूक गया और उसकी जान बच गई। गोलीबारी की इस घटना के बाद पुलिस आरोपियों की खोज करने में लग गई है, हालांकि अभी तक उनका कोई भी पता नहीं चला है। 
प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार, हमले का शिकार बने व्यापार करने वाले व्यापारी कैलाश मीणा कोटा सब्जी मार्केट में कैलाश फ्रूट एंड वेजीटेबल कंपनी के नाम से दुकान चलाते है। सोमवार को जब वह सब्जी मार्केट में दुकान पर बैठे थे। इसी दौरान दो बाइक पर सवार 6 बदमाशों ने सब्जी मार्केट में आकार कैलाश मीणा को ज़ोर से आवाज देना शुरू किया और कैलाश को मारने के इरादे से उन्होंने पिस्तोल से फायरिंग करनी शुरू कर दी। बदमाशों ने कैलाश पर 5 राउंड फायरिंग की, पर वह निशाना चूक गए और कैलाश मीणा बच गए। जिसके बाद सभी वहाँ से फरार हो गए। 
फायरिंग की घटना के कारण पूरे सब्जी मार्केट में सनसनी फ़ेल गई थी। इस पूरी घटना का वीडियो वहाँ लगे सीसीटीवी कैमरा में कैद हो गया था। घटना की जानकारी मिलते ही गुमानपूरा पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और कैलाश मीणा तथा अन्य व्यापारियों से पूछताछ की। कैलाश का कहना है की उनकी किसी से भी कोई भी दुश्मनी नहीं थी। हमला करने आए बदमाशों को वह पहचानते भी नहीं है। हालांकि 7-8 साल पहले इस्लामनगर में रहने वाले कुछ लोगों के साथ उनका झगड़ा हुआ था। पुलिस ने हमलावरों में से के की पहचान रफीक कालिया के तौर पर की है। फिलहाल कोटा पुलिस की एक विशेष डीम आरोपियों को खोजने में लगी है।  

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें