क्रिकेट : जब रन आउट होने पर पिच से लेकर पवेलियन तक रोते- रोते गये थे लिटिल मास्टर, अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर वीडियो साझा कर फैन्स को सचिन ने बताया किस्सा

इस वीडियो में वह एक मैदान की कहानी बता रहे हैं, जहाँ सचिन में 1986 में अपना पहला अंडर-15 मैच खेला था

क्रिकेट की दुनिया में शायद ही कोई होगा जो सचिन तेंदुलकर को नहीं जानता। चार पीढ़ियों को अपनी कलात्मकता और शानदार क्रिकेट से आना कल बना चुके दुनिया के महान बल्लेबाजों में शुमार मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपने लंबे क्रिकेट करियर में बहुत से पिचों पर बल्लेबाजी की है पर इन सभी में से कुछ पिच पर और उन पर बिताये गये ऐसे क्षण रहे हैं, जिसने उन्हें भावुक कर दिया। आज सोशल मीडिया पर सचिन का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें सचिन अपने जीवन के अहम क्षणों की बात कर रहे हैं। 
हाल ही में अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर एक वीडियो शेयर करते हुए क्रिकेट से जुड़ी अपनी यादों को फैन्स से साझा किया। इस वीडियो में वह एक मैदान की कहानी बता रहे हैं। दरअसल, पीवाईसी क्लब का मैदान वह मैदान है, जहां उन्होंने पहली बार क्रिकेट खेला था। सचिन इस वीडियो में बताते हैं- मैं पीवाईसी क्लब के मैदान में खड़ा हूं। यहां मैंने 1986 में अपना पहला अंडर-15 मैच खेला था। उस मैच में मैं नॉन-स्ट्राइकर एंड पर खड़ा था। स्ट्राइक पर मेरे ही स्कूल का एक साथी राहुल गणपुले खड़ा था। उन्होंने ऑफ में एक शॉट लगाया और रन लेने के लिए दौड़ गया। उन्होंने मुझ पर तीसरा रन लेने के लिए दबाव बनाया। मुझे उनके तेज भागने की क्षमता के बारे में पता था, लेकिन मुझमें हिम्मत नहीं थी कि मैं और भाग सकूं। मैं उनके कहने पर भागा, लेकिन रन आउट हो गया। सचिन ने बताया- मैं जब आउट हुआ तो मुझे रोना आ गया और पिच से लेकर पवेलियन तक रोते हुए गया। इसके बाद कुछ सीनियर खिलाड़ियों ने और मुंबई टीम के मैनेजर अब्दुल इस्माइल ने मुझे समझाया। उन्होंने मुझसे कहा कि अभी मेरे पास और भी मैच हैं खेलने के लिए। मैं उन मैचों में रन बना सकता हूं। उन लोगों की इसी सीख से मैं आगे बढ़ा और आगे चलकर मैंने खूब रन बनाए। अब मैं 35 साल बाद इस मैदान पर लौटा हूं और इस मैदान को देखकर भावुक हो गया हूं। 
2011 वनडे वर्ल्ड कप जीतने के बाद भी सचिन भावुक हो गए थे। वह उनका आखिरी वर्ल्ड कप था। मास्टर ब्लास्टर ने करीब 24 साल भारतीय क्रिकेट की सेवा की और कई रिकॉर्ड अपने नाम किए, जिसे शायद अब तोड़ना बेहद मुश्किल है। वह अपने अनुभवों को भी फैन्स से शेयर करते रहते हैं, जिसे लोग दिलचस्पी से सुनते भी हैं। करियर की बात करें तो सचिन ने अपने करियर में 200 टेस्ट, 463 वनडे और एक टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला। उन्होंने टेस्ट में 53.79 की औसत से 15,921 रन, वनडे में 44.83 की औसत से 18,426 रन और एक टी-20 में 10 रन बनाए। इसके अलावा सचिन ने टेस्ट में 46 विकेट, वनडे में 154 विकेट भी झटके। भारत के लिए एकमात्र टी-20 में भी उन्होंने एक विकेट लिया। सचिन इसके अलावा 78 आईपीएल मैच भी खेले, जिसमें उन्होंने 119.82 के स्ट्राइक रेट से 2334 रन बनाए। सचिन के नाम टेस्ट में 51 शतक और 68 अर्धशतक हैं। वहीं, वनडे में सचिन के नाम 49 शतक और 96 अर्धशतक हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें