कान फिल्म फेस्टिवल : युक्रेन में महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार के विरोध में ये महिला हुई ‘टोपलेस’, कहा हमारे साथ दुष्कर्म मत करो

विरोध के दौरान उसने अपनी बॉडी पर यूक्रेन के झंडे के रंग में पेंट किया था, जिस पर "स्टॉप रेपिंग अस’ लिखा हुआ था

फ्रांस में १७ मई से चल रहे कान फिल्म फेस्टिवल के एक महिला टापलेस होकर रेड कार्पेट पर पहुंचने पर हंगामा मच गया। इस महिला ने ऐसा विरोध के लिए किया। महिला ने यूक्रेन में हो रहे बलात्कार के खिलाफ संदेश देने के लिए अपने कपड़े उतार दिए थे। जॉर्ज मिलर की फिल्म 'थ्री थाउजेंड इयर्स ऑफ लॉन्गिंग' के प्रीमियर के दौरान हुई इस घटना ने 'कान फिल्म फेस्टिवल' में मौजूद सभी को हैरान कर दिया। इसके बाद सुरक्षा गार्ड ने किसी तरह का हालात को संभालते हुए महिला को वहां से बाहर निकाला
जानकारी एक अनुसार इस महिला ने यूक्रेन में शारीरिक हिंसा के विरोध में यह प्रदर्शन किया। इस दौरान उसने अपनी बॉडी पर यूक्रेन के झंडे के रंग में पेंट किया था, जिस पर "स्टॉप रेपिंग अस’ लिखा हुआ था। महिला की पीठ के निचले हिस्से और टांगों पर खून भी दिखाई दिया। उसकी पीठ पर 'एससीयूएम' लिखा हुआ था। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में देखा जा सकता है कि महिला प्रदर्शनकारी को कोट से ढंकते हुए ले जाया जा रहा है और वह तब भी जोर- जोर से चिल्ला रही है।
गौरतलब है कि रुस-यूक्रेन जंग के बीच बहुत सी महिलाएं यौन हिंसा का शिकार हो रही हैं। ऐसा माना जा रहा है कि इस दौरान सुरक्षा की उम्मीद में पहुंची यूक्रेन की शरणार्थी महिलाओं और लड़कियों के साथ रेप किया जा रहा है. ऐसा अनुमान है कि 5 में से 1 शरणार्थी महिला और लड़कियां घर से अपनी यात्रा के दौरान, साथ ही शरणार्थी शिविरों और आश्रयों जैसी जगहों में यौन हिंसा का सामना कर रही हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें