कुन्नूर हादसे में मिला हेलिकॉप्टर का ब्लॅक बॉक्स, दुर्घटना के कारण का जल्द हो सकता है खुलासा

(Photo Credit : tv9gujarati.com)

हेलिकॉप्टर में बैठे 14 में से 13 लोगों की हो गई थी मौत

सीडीएस जनरल बिपिन रावत के हेलिकॉप्टर के क्रेश हो जाने के कारण उनकी मौत हो गई थी। इस क्रेश हुये हेलिकॉप्टर का फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर घटनास्थल पर से मिल आया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, राजनाथ सिंह ने लोकसभा में अपने संबोधन के दौरान बताया की बिपिन रावत ने सुलुर एयरबेज पर से उड़ान भरी थी और टेक ऑफ करने के कुछ ही समय बाद उनका हेलिकॉप्टर क्रेश हो गया था। इसके बाद स्थानीय तंत्र घटनास्थल पर पहुंचा और स्थानीय लोगों की मदद से बचाव कार्य शुरू किया गया। राजनाथ सिंह ने बताया की दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिये गए है। सीडीएस बिपिन रावत वेलिंगटन के छात्रों को संबोधित करने के लिए गए थे। उन्होंने कहा की भारतीय वायुसेना ने हेलिकॉप्टर दुर्घटना की त्रि-सेवा की जांच के आदेश दिये है, जो की एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह द्वारा की जाएगी। 
तमिलनाडु में दुर्घटना के पहले बिपिन रावत के हेलिकॉप्टर का एक वीडियो सामने आया है, जिसे कुछ स्थानीय लोगों ने ही रिकॉर्ड किया है। दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका के अलावा 12 अन्य लोग सवर थे। दुर्घटना इतनी भयंकर थी की हेलिकॉप्टर की मात्र राख़ ही दिखाई दे रही थी। हेलिकॉप्टर में बैठे 14 में से 13 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एक जवान को बचाने में सफलता मिली थी। ब्लैक बॉक्स जहाज का सबसे महत्वपूर्ण हिसा है और वह हर जहाज में मौजूद होता है।
इस मशीन में एयरक्राफ्ट संबंधित सभी तरह की प्रवृतियाँ रिकॉर्ड होती है। इसलिए उसे फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर भी कहते है। यह बॉक्स टाइटेनियम से बना हुआ होता है, जो की काफी मजबूत धातु मानी जाती है। इसके चलते ऊंचाई से गिरने और पानी में गिरने की स्थिति में भी उसे कम से नुकसान होता है। ब्लैक बॉक्स बिना बिजली के भी 30 दिनों तक काम करता है। जब यह बॉक्स कहीं गिर जाता है, तो प्रति सेकंड एक बीप ध्वनि / तरंग लगातार 30 दिनों तक जारी रहती है। सर्च टीम 2 से 3 किमी की दूरी से आवाज सुन सकती है। एक और दिलचस्प बात यह है कि यह 14000 फीट गहरे पानी से भी सिग्नल भेजता रहता है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शुक्रवार को सेना मुख्यालय से पार्थिव शरीर उनके घर लाया जाएगा. इसके बाद सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक लोगों को उनके पार्थिव शरीरों को अंतिम संस्कार करने की अनुमति दी जाएगी। इसके बाद अंतिम संस्कार का जुलूस निकाला जाएगा जो कामराज मार्ग से दिल्ली कैंप के बरार स्क्वायर कब्रिस्तान तक जाएगा। भारतीय वायु सेना ने आज कहा कि जनरल रावत, उनकी पत्नी और सशस्त्र बलों के 11 अन्य सदस्य बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में एक सैन्य हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से मारे गए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें