भोपाल : कोरोनाकाल में पत्नी के गहने बेचकर भी लोगों को पहुँचाया अस्पताल, अब एक महिला ने लगाया दुष्कर्म का आरोप

महिला का आरोप है कि जावेद ने दोस्ती के दौरान उसे शादी के सपने दिखाकर उसके साथ दुष्कर्म किया

कोरोना महामारी के दौरान बहुत से लोग ऐसे थे जो दूसरों की मदद करने के लिए किसी भी हद तक चले गये थे। एक तरफ सोनू सूद जैसे सेलेब्रिटी लोगों की हरसंभव मदद कर रहे थे वहीं दूसरी ओर बहुत से आम आदमी अपनी सीमा से परे जाकर लोगों की मदद क्र रहे थे। इसी दौरान कोरोना की दूसरी लहर में भोपाल के जावेद नाम का एक ऑटो चालक काफी चर्चा में रहा। जावेद ने कोरोना वायरस के संकट काल में एंबुलेंस की कमी के चलते मरीजों की मदद के लिए अपने ऑटो को एंबुलेंस में बदल दिया था।
बता दें कि कोरोना में लोगों की मदद करने के लिए अपनी पत्नी के गहने बेचने के कारण चर्चा में आये जावेद एक बार फिर चर्चा में है लेकिन इस बार वो गंभीर आरोपों को लेकर चर्चा में है। जावेद के खिलाफ एक महिला के साथ दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच कर रही है।
जानकारी के अनुसार महिला ने पुलिस को बताया कि जावेद उसके घर के पास रहता था और वह उसे पहले से जानती थी। इसी दौरान दोनों में दोस्ती हो गई। वहीं जावेद उनके घर आता-जाता रहता था। महिला का आरोप है कि जावेद ने दोस्ती के दौरान उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। पीड़िता का आरोप है कि जावेद ने उसे शादी के सपने दिखाकर दुष्कर्म किया। अब वह शादी करने से इंकार कर रहा है। इसके बाद पीड़िता ने जावेद के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने धारा 376 व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इसके बाद से ऑटो चालक जावेद की मुश्किलें बढ़ गई हैं और उसकी गिरफ्तारी भी संभव है। मामला दर्ज होने के बाद से जावेद पिछले कुछ समय से लापता है। महिला ने पुलिस से न्याय की मांग की है। आरोपी जावेद पहले से शादीशुदा है।
फिलहाल इस मामले में कितनी सच्चाई है ये तो पुलिस जाँच के बाद ही सामने आयेगा पर गौरतलब है कि कोरोना काल में जहां लोग एक-दूसरे की मदद करने से डरते थे, वहीं इस ऑटो चालक जावेद ने बिना किसी डर के खुले दिल से लोगों की मदद की। उन्होंने एम्बुलेंस में अपना ऑटो चलाया। इस दौरान उन्होंने कई लोगों की जान बचाई है। उसके पास पैसे भी नहीं थे। दिग्गज अभिनेता अक्षय कुमार ने भी उनकी तारीफ की। ऑटो को एंबुलेंस में बदलने के लिए उसने अपनी पत्नी के गहने भी बेच दिए।

(यौन उत्पीड़न के मामलों में सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुरूप पीड़िता की निजता का सम्मान करते हुए उनकी पहचान उजागर नहीं की गई है।)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें