आसाम : महिला ने दिया राज्य के सबसे वजनदार बच्चे को जन्म, जन्म के समय था इतना भारी

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

महिला का पहला बालक सिजेरियन से हुआ था जिसके कारण नहीं हुई थी सोनोग्राफी, पहला बालक भी था 3.8 किलोग्राम का

आम तौर पर हर माता का सपना होता है कि उसकी संतान हो और जन्म के समय वह तंदूरस्त हो। हालांकि आसाम के कछार जिले में जन्मे एक बच्चे तो मानो तंदूरसती के सारे मायने ही बदल डाले। जहां एक महिला ने 5 किलोग्राम से भी अधिक वजन के एक बच्चे को जन्म दिया है। आम तौर पर एक तंदूरस्त बच्चे का जन्म 2.5 से 3 किलो का माना जाता है। हालांकि महिला ने जिस बच्चे को जन्म दिया है वह 5.2 किलोग्राम का है। डॉक्टरों ने बालक के जन्म के बाद ही अन्य सभी अस्पतालों में से इस बारे में जानकारी हासिल की, जिसके बाद यह पता चला की वह आसाम का अब तक का सबसे वजनदार बालक था। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, सिल्चर के कनकपुर विभाग 2 में रहने वाली 27 वर्षीय महिला जया दास गर्भवती थी। 17 जून को वह सतींद्र मोहन देव अस्पताल गई थी। जहां महिला को डिलिवरी के लिए 29 मई की तारीख दी गई। हालांकि किसी कारणसर वह उस दिन वहाँ नहीं जा सकी। महिला का इलाज करनेवाले डॉ हनिफ के अनुसार, महिला को 29 मई को आने को कहा था। पर उसे 20 दिन के बाद प्रसव पीड़ा हुई थी। महिला का पहला बालक सिजेरियन से हुआ था, जिसके चलते उन्होंने उसकी सोनोग्राफी नहीं की और उसे इमर्जन्सी में अस्पताल में दाखिल किया गया। 
भर्ती करने के बाद डॉक्टरों की टीम ने महिला की सिजेरियन डिलिवरी करवाई थी और महिला ने 5.2 किलोग्राम के बालक को जन्म दिया था। डॉक्टर ने कहा की फिलहाल माता और बालक दोनों स्वस्था है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा की आम तौर पर जन्म के समय बालकों का वजन 2.5 से 3 किलोग्राम होता है। पर इस बालक का वजन 5.2 था, इसके पहले भी जया दास को जो बालक हुआ था उसका वजन 3.8 किलो था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें