अहमदाबाद : विश्व बैंक गुजरात में शिक्षा के लिए 2.5 मिलियन का अनुदान प्रदान करेगा

साबरकांठा जिले के इडर तालुका में केशरपुरा प्राथमिक विद्यालय का विश्व बैंक की टीम ने दौरा किया

विश्व बैंक की टीम ने केशरपुरा प्राइमरी स्कूल का दौरा किया और डाइट एडर प्रजेन्टेशन देखकर शिक्षा कार्य से हुआ प्रभावित

साबरकांठा जिले के इडर तालुका में केशरपुरा प्राथमिक विद्यालय का विश्व बैंक की टीम ने दौरा किया। ग्रीन स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में बहुत महत्वपूर्ण है। साथ ही राज्य और साबरकांठा जिले में ऐसे ग्रीन स्कूलों की संख्या बढ़ाने के लिए विशेष चर्चा की गई और टीम को स्कूल के छात्रों द्वारा स्कूल के बारे में जानकारी दी गई। 
यह जरूरी है कि बच्चों की शिक्षा को मजबूत किया जाए और बच्चों का शारीरिक, मानसिक और बौद्धिक विकास उनके वातावरण में हो। बच्चा स्वतंत्र रूप से सोच सके और सरकारी स्कूलों के प्रति लोगों के रवैये में सुधार कर सके तथा विद्यालयों को अत्याधुनिक बनाने विश्व बैंक द्वारा गुजरात को 2.5 मिलियन डॉल र का अनुदान मिलेगा।  दौरे के दौरान टीम ने केसरपुरा प्राइमरी स्कूल में चाइल्ड डॉक्टर, बाल बचत बैंक, औषध बाग, किचन गार्डन, ग्रीन हाउस, हेल्थ कॉर्नर, अक्षय पात्र, स्मार्ट क्लास, सेनेटरी पैड, एटीएम, लैंग्वेज कॉर्नर जैसी विभिन्न गतिविधियों के  संचालन  से प्रभावित हुए। 
टीम की सदस्य सुश्री नेहा व्यास ने कहा कि प्राकृतिक वातावरण में बच्चों के विकास के साथ पर्यावरण के प्रति लगाव विकसित कर उनके आंतरिक विकास पर विशेष बल दिया जाता है। टीम द्वारा इस स्कूल की अवधारणा की सराहना की गई। उन्होंने बच्चों से आंगनबाडी से लेकर प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा तक अपने विकास पर ध्यान देने को कहा। शिक्षकों और बच्चों के बीच का रिश्ता भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ये बच्चे भविष्य की तैयारी कर रहे हैं।  डिजिटल शिक्षा के साथ उन्हें किस जगह किस वस्तु की जरुरत है वह विश्व बैंक की टीम द्वारा पूरा किया जाएगा।
   ग्रीन स्कूल यानी बच्चे के विकास में पर्यावरण और परिवार के माहौल, शिक्षा या बच्चे के प्रति शिक्षक के रवैये आदि पर चर्चा की गई।  कोरोना जैसी महामारी के लिए बच्चों को तैयार करने पर भी जोर दिया गया। उन्होंने यह भी कहा कि प्लास्टिक मुक्त भारत अभियान को सफल बनाने के प्रयास किए जाने चाहिए।
 स्कूल का दौरा करने के बाद टीम ने इडर प्रशिक्षण संस्थान डाइट का दौरा किया। दौरे के दौरान जिला विकास अधिकारी नितिन संघवान उपस्थित थे और टीम द्वारा प्रस्तुति देखी गई थी। जिला स्तरीय शिक्षण प्रशिक्षण भवन डायट का प्रजेन्टेशन देका तथा प्राचार्य एवं उनकी टीम द्वारा किये गये शिक्षण कार्य से प्रभावित होकर संतोष व्यक्त किया। मुलाकात  के दौरान , विश्व बैंक टीम की सदस्य सुश्री सारा, केन्द्र सरकार के अग्रणी कमलेश,  सर्व शिक्षा गांधीनगर के अनिल उपाध्याय,  जिला शिक्षा अधिकारी श्री व्यास, डीपीओ चौधरी, डायट प्राचार्य के.टी. पुरनिया, टीपीओ तरुनाबेन सहित डायट शिक्षा विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें