अहमदाबाद : मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल के नेतृत्व में बनी राज्य की नई आईटी-आईटीईएस पॉलिसी को मिल रहा व्यापक निवेश समर्थन

आईटी तथा आईटीईएस सेक्टर में मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल की उपस्थिति में और दो एमओयू हुए

गुजरात में आईटी तथा आईटीईएस सेक्टर में निवेश को प्रोत्साहन से रोज़गार निर्माण के अवसर बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल की उपस्थिति में और दो एमओयू हुए

जीईएसआईए आगामी पाँच वर्ष में करेगा 2000 करोड़ रुपए का निवेश, लगभग 6700 लोगों को मिलेगा रोज़गार अवसर
मुख्यमंत्री  भूपेन्द्र पटेल के नेतृत्व में राज्य सरकार ने आईटी तथा आईटीईएस सेक्टर में निवेश एवं रोज़गार निर्माण को गति देने के लिए बनी आईटी तथा आईटीईएस पॉलिसी 2022-27 को निवेशकों का व्यापक समर्थन मिला है। इन दोनों क्षेत्रों के प्रतिष्ठित उद्योग-निवेशक, कंपनी संचालक गुजरात की इस पॉलिसी के प्रोत्साहक लाभ से प्रेरित होकर राज्य में निवेश के लिए आने लगे हैं। मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल की उपस्थिति में गांधीनगर में सोमवार 20 जून को दो और एमओयू पर हस्ताक्षर हुए। साइंस टेक्नोलॉजी मंत्री  जीतूभाई वाघाणी इस अवसर पर सहभागी हुए। राज्य सरकार के साइंस टेक्नोलॉजी विभाग तथा आईटी एसोसिएशन एवं GESIA (जीईएसआईए) के बीच ये समझौते हुआ। इस एसोसिएशन की लगभग 10 विभिन्न कम्पनियाँ कुल 2 हज़ार करोड़ रुपए का निवेश आगामी पाँच वर्ष में आईटी क्षेत्र में करने वाली हैं और इसके द्वारा लगभग 6750 लोगों को रोज़गार के विभिन्न अवसर मिलेंगे।
इंटीग्रिटी ग्रुप 100 से 150 करोड़ रुपए का निवेश कर लगभग 3 हज़ार रोज़गार के अवसर प्रदान करेगा 
इस अवसर पर साइंस टेक्नोलॉजी मंत्री जीतूभाई वाघाणी,मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथ, मुख्य सचिव पंकज कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज जोशी, सचिन गुसिया आदि उपस्थित थे।

जीईएसआईए राज्य में लीज़, कॉमर्शियल ऑफ़िस स्पेस, आईटी सॉफ़्टवेयर एण्ड इन्फ़्रास्ट्रक्चर, मानव संसाधन, डेटा सेंटर, आर एण्ड टी, क्लाउड आदि विषयों में अपनी सेवाएँ देगा। इस एमओयू के अतिरिक्त लीडिंग आउट सोर्सिंग और फ़िनटेक कंपनी वाले अहमदाबाद स्थित इंटीग्रिटी ग्रुप ने भी राज्य सरकार के साइंस टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के साथ एमओयू किए। इंटीग्रिटी ग्रुप 2015-16 से इस क्षेत्र में कार्यरत् है और यूएस-यूके सहित ग्लोबल मार्केट में ख्याति प्राप्त है। भारत में भी पाँच शहरों में कंपनी के ऑफ़िस के साथ 1250 कर्मचारी हैं। अब गुजरात सरकार के साथ आईटी-आईटीईएस पॉलिसी 2022-27 से प्रेरित होकर इंटीग्रिटी ग्रुप द्वारा किए गए एमओयू के अनुसार आगामी 3 से 5 पाँच वर्ष में 100 से 150 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा तथा लगभग 3 हज़ार लोगों को रोज़गार के अवसर प्रदान करेगा।
मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल की उपस्थिति में इस एमओयू पर जीईएसआईए की ओर से वाइस चेयरमैन एण्ड डिरेक्टर प्रणव पंड्या और इंटीग्रिटी ग्रुप की ओर से सीईओ शालिन परीख और राज्य सरकार की ओर से साइंस टेक्नोलॉजी सचिव विजय नेहरा ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथ, मुख्य सचिव पंकज कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज जोशी, सचिन गुसिया आदि उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें