अहमदाबाद : सोशल मीडिया पर मिली लड़की से मिलने गए व्यापारी के साथ हुआ धोखा

(Photo Credit : timesofindia)

युवती के साथ समय बिता रहे व्यापारी को कुछ लोगों ने नकली पुलिस बनकर लूटने की की कोशिश, हनीट्रैप का अंदेशा

आज के समय सोशल मीडिया से कोई अछूता नहीं है। हर वर्ग और हर उम्र के लोग सोशल मीडिया पर है और अपने दिन का अधिकांश समय सोशल मीडिया पर बिताते है। कुछ लोग सोशल मीडिया का सही उपयोग करते है जबकि बहुत से लोग इसका दुरुपयोग करके लोगों को फंसाने का काम करते है। हम आये दिन ऐसे मामलों के बारे में सुनते रहते है। अब अहमदाबाद के वेजलपुर से भी ऐसा एक मामला सामने आया है जहाँ एक डेयरी मालिक की सोशल मीडिया के जरिए गांधीनगर की रहने वाली एक युवती से जान पहचान हो गई। यह हैरान करने वाली घटना बन गई है कि व्यवसायी को घर पर बुलाकर युवती ने दो दिन तक अपने फ्लैट में रखा और बाद में पांच लाख रुपये की मांग की। हालांकि मौका मिलते ही कारोबारी फ्लैट से फरार हो गया। मामले में व्यवसायी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। शुरुआती जांच में पुलिस को शक है कि यह किसी हनी ट्रैपिंग गिरोह का काम हो सकता है। घटना के बाद आरोपी किराए के फ्लैट में ताला लगाकर फरार हो गए।
जानकारी के अनुसार अहमदाबाद में वेजलपुर वैजनाथ महादेव के पास मुकवास में रहने वाला व्यवसायी अपने भाई के साथ एक निजी कंपनी की डेयरी फ्रेंचाइजी चलाता है। दो महीने पहले महेंद्रसिंह के इंस्टाग्राम पर एक युवती ने एक मैसेज पोस्ट किया था। थोड़ी बातचीत के बाद मोबाइल नंबर का आदान-प्रदान हुआ। इसके बाद दोनों व्हाट्सएप से नियमित बातचीत और फिर वीडियो कॉल करने लगे।
व्यापारी से बात के समय लड़की ने बताया कि उसका पति दुबई में है और उसकी बेटी इस समय अपने ससुराल में रह रही है। बाद में दोनों में लगभग 20 दिन पहले गांधीनगर के वावोल में गोल्डन पैराडाइज में मिलने की योजना बनाई। 10 दिन बाद व्यवसायी युवती से मिलने अपने फ्लैट में गया और 30 मिनट तक उसके साथ रहा। 25 अक्टूबर को रात 11 बजे युवती ने मैसेज कर घर पर बुलाया। व्यवसायी ने अपनी बोलेरो कार अपार्टमेंट के बाहर खड़ी कर दी और घर पर उनसे मिलने गए। दोनों घर पर करीब दो घंटे तक रहे। इस बीच युवती के दरवाजे पर किसी ने दस्तक दी और इस पर युवती ने ने व्यवसायी को छिपने के लिए कहा। लड़की ने दरवाजा खोला तो कुछ लोग पुलिस के रूप पहचान देते हुए अंदर आये और व्यापारी पर दुष्कर्म का आरोप लगते हुए पांच लाख रुपये मांगे। फर्जी पुलिसकर्मी ने कारोबारी के भाई से फोन पर बात करते हुए पैसों की मांग की।
इसके बाद वो वह से चले गये और फिर 27 अक्टूबर को वापस आए। इस बीच फ्लैट का दरवाजा खुला देख कारोबारी मौके पर फरार हो गया और सीधे सेक्टर-7 थाना पुलिसस्टेशन जाकर मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस के पहुंचने से पहले ही युवती व फर्जी पुलिसकर्मी फरार हो गए। फिलहाल पुलिस को हनीट्रंप का मामला लग रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें