अहमदाबाद : चौंकाने वाला खुलासा, पारिवारिक विवाद में आईबी अधिकारी ने कराई पत्नी की हत्या

गिरफ्त में आरोपी

अहमदाबाद के वेजलपुर इलाके में स्थित श्रीनंदनगर मंडल-2 के एफ ब्लॉक के घर में महिला का शव मिला था

वेजलपुर क्षेत्र के श्रीनंदनगर सेक्टर 2 में एक महिला का शव मिलने के बाद हत्या का चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है। जोन 7 एलसीबी की टीम ने महिला की हत्या के पीछे पति की साजिश का खुलासा करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। लेकिन हत्या की साजिश में फरार तीन आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने जांच का चक्र गतिमान कर दिया है। श्रीनंदनगर मंडल-2 अहमदाबाद के वेजलपुर इलाके में स्थित है। हाल ही में एफ ब्लॉक के एक घर में एक महिला का शव मिला था। हालांकि शुरुआती दौर में पुलिस ने आकस्मिक मौत का मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी। परंतु डॉक्टर की पीएम रिपोर्ट से पता चला कि महिला की हत्या हुई है। 
इसके बाद वेजलपुर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच के लिए टीमें गठित की। इस महिला की हत्या करने वालों को पकड़ने के लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया गया था। शुरुआती दौर में पुलिस ने दो संदिग्धों को सोसायटी से गुजरते हुए अलग-अलग थ्योरी की जांच करते हुए देखा। उसके बाद अलग-अलग सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पता चला कि ये दोनों पल्सर बाइक लेकर मकरबा इलाके से निकले थे, पुलिस ने वाहन के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए एक टीम तेलंगाना भेजी थी। पुलिस ने जांच की कि पल्सर बाइक कहां से खरीदी गई थी, तो पता चला कि वाहन को एक आयकर डीलर से किराए पर लिया गया था जो किराए पर वाहन उपलब्ध कराता है। पुलिस जांच में खलीलुद्दीन सैयद ने गाड़ी किराए पर लेने के साथ चौंकाने वाला खुलासा किया।  
मनीषाबेन दुधेला की फाइल तस्वीर
खलीलुद्दीन सैयद से प्रारंभिक पूछताछ के दौरान जोन 7 एलसीबी की टीम को चौंकाने वाला तथ्य सामने आया। मृतक मनीषाबेन के पति ने हत्या की साजिश रची थी और खलीलुद्दीन का पुराना परिचित होने से मनीषाबेन के पति ने उसे यह काम सौंपा था। गौरतलब है कि मृतक मनीषाबेन का पति इंटेलिजेंस ब्यूरो में पुलिस अफसर के पद पर कार्यरत है। पारिवारिक विवाद के चलते मनीषाबेन को खत्म करने के लिए हत्या की योजना बनाई गई थी। मनीषाबेन का पति पिछले दस साल से मध्य प्रदेश में इंटेलिजेंस ब्यूरो में काम कर रहा है। आरोपी खलीलुद्दीन से पूछताछ में पता चला कि उसने अपना काम करवाने के लिए 15000 रुपये भी दिए थे।
हालांकि, जब पुलिस ने हत्या के पीछे के मकसद की जांच की, तो खलीलुद्दीन ने स्वीकार किया कि आईबी अधिकारी राधाकृष्ण मधुकर दुधेला लंबे समय से से परिचित थे और चूंकि वे दोनों मूल रूप से तेलंगाना के थे, इसलिए उन्होंने पारीवारिक झगड़ा का अंत लाने के लिए खलीलुद्दीन से अपनी पत्नी मनीषाबेन को रास्ते से हटाने के लिए कहा। इस वजह से खलीलुद्दीन ने अपने दो साथियों के साथ 10 दिनों तक अहमदाबाद के वेजलपुर इलाके में मनीषा बेन की रेकी कर सभी गतिविधियों से परिचित होकर हत्या को अंजाम दिया था। 
फिलहाल हत्या और आपराधिक साजिश के मामले में चार आरोपियों की संलिप्तता सामने आई है। जिसमें से केवल एक आरोपी को तेलंगाना से गिरफ्तार किया गया है। जबकि मृतका का पति आईबी अधिकारी राधाकृष्ण मधुकर दुधेला और हत्या में शामिल सतीश एवं जावेद नाम के दो लोगों गिरफ्तार कर पुलिस हत्या के मामले में और खुलासा करेगी। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें