अहमदाबाद : अस्पताल में दाखिल न करने पर यूं सड़कों पर बैठे रहे मां-बेटा!

(Photo Credit : twitter.com)

108 एम्ब्युलेंस में ना आने के कारण अस्पताल ने किया एडमिट करने से मना

कोरोना के कारण प्रशासन जितनी भी कोशिश कर रहा है वह नाकाफी साबित हो रहा हैं। अहमदाबाद महानगरपालिका संचालित हॉस्पिटल में बुधवार को  एक मा अपने बेटे को दाखिल करने के लिए गई थी, लेकिन हॉस्पिटल में जगह नहीं मिलने के कारण वह लोग रोड पर ही बैठे रहे। अंत में मरीज रोड पर ही सो गया। 
बात ऐसी है कि बुधवार की रात को एक वृद्ध महिला रोड पर बैठी हुई थी जिसके सामने उसका जवान बेटा रोड पर सो रहा था। यह दृश्य देखकर लोगों ने जब मॉ से कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि उनका बेटा कोरोना वायरस संक्रमित था। लेकिन वह 108 के माध्यम से नहीं आया इसलिए उसे दाखिल नहीं किया गया है। इस बारे में उत्तर जोन के डिप्टी हेल्थ ऑफिसर जी टी मकवाना ने बताया कि डॉ प्रयाग भट के अनुसार मरीज के पास आरटीपीसीआर रिपोर्ट नहीं था। इसलिए उसे दाखिल नही किया गया। क्योंकि शारदाबेन हॉस्पिटल संदेहदनक मरीजों का अस्पताल नहीं है।डॉक्टर ने उन्हें सिविल में जाने के लिए कहा लेकिन वह रोड पर ही बैठ गए। जिसका कि कुछ लोगों ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है।
उल्लेखनीय है की एक और जहां राज्य में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे है ऐसे में कोरोना के मरीजों को काफी तकलीफ़ों का सामना करना पड़ रहा है। समस्या यह है कि इमरजेंसी सर्विस कहे जाने वाली 108 घंटे तक मरीजों के पास नहीं आती और अस्पताल वाले 108 के सिवाय अन्य माध्यम से हॉस्पिटल में जाओ तो एडमिट नहीं कर रहे हैं। जिसके चलते की लोगों को दिक्कत हो रही है। बता दे की अस्पतालों में लगातार बढ़ रहे केसों के कारण एम्ब्युलेंस की सुविधा के लिए भी 16-16 घंटो की लाइन लगी है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें