अहमदाबाद : नशीली दवा पिलाकर सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती की मौत, तीन गिरफ्तार

(Photo Credit : news18.com)

तीन दिनों से भाई नहीं दिखा तो बहन पहुंची थी उसके घर, घर में से मिली युवती की सड़ी हुई लाश

राज्य में पिछले काफी समय से दुष्कर्म की घटनाएँ सामने आ रही है। ऐसी ही एक और घटना में अहमदाबाद में मात्र एक महीने पहले ही नेपाल से अपने पति और बच्चों के साथ रहने आई 24 वर्षीय परिणीता का कुछ हवसखोरों ने मकान ढूँढने के बहाने में रिक्शा में अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया था। जहां युवती को नशीली दवा पिलाकर तीन लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। इस दौरान नशीले दवा के ओवरडोज़ और मुंह में रुमाल बांधे होने के कारण उसकी मृत्यु हुई थी। जिसे देखकर तीनों आरोपी भाग खड़े हुये थे। 
घटना की जानकारी तब मिली जब एक आरोपी की बहन तीन दिन के बाद उसे देखने आई और उसे घर में सड़ा हुआ मृतदेह मिला था। जिसके चलते पुलिस को इस बात की जानकारी दी गई। इसके बाद मुख्य आरोपी राजू सोलंकी को कोर्ट में पेश किया गया था, जबकि अन्य दो अपराधी अभी भी गायब है। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, मूल नेपाल के रहने वाला 30 वर्षीय युवक पिछले कई सालों से अहमदाबाद में ही एक निजी अस्पताल में काम करता है। एक महीने पहले वह अपनी पत्नी और बालक को भी अहमदाबाद लाया था। परिवार को अब एक नए मकान की भी जरूरत थी। ऐसे में 17 तारीख की शाम को वह बाजार में खरीदी करने गई और वापिस आते समय एक रिक्शा में बैठी। जिसमें अफले से इमरान और इस्माइल नाम के व्यक्ति बैठे थे। रिक्शा में बैठे बैठे बातचीत करते हुये युवती ने उसे घर के तलाश होने की बात कही। युवती की बात सुनकर वह युवक उसे आसपास के इलाके में घुमाने लगे। 
इसी बीच युवती ने सर में दर्द होने की बात कही। उसके सरदर्द के लिए उन्होने ने उसे पाँच छोटी टेबलेट दी। टेबलेट खाने के चलते युवती को नशा होने लगा था। धीरे से उन्होंने और पाँच गोली खिलाकर रात्री कर्फ़्यू का बहाना बताकर उसे रिक्शाचालक राजू सोलंकी के घर ले गए थे और वहाँ उसके ऊपर बारी-बारी से दुष्कर्म किया था। युवती आवाज ना निकाल सके इसके लिए उन्होंने इसके मुंह में कपड़े का टुकड़ा भर दिया था। इसी दौरान उसकी मौत हो गई थी। युवती की मौत हो जाने से तीनों वहाँ से भाग गए थे। 
हादसे के तीसरे दिन जब राजू की बहन उसे देखने उसके घर पहुंची तो उसके घर में युवती की सड़ी हुई लाश उसे दिखी थी। जिसकी जानकारी मिलते दानीलिमड़ा पुलिस स्टेशन के पीआई और उनकी टीम वहाँ पहुँच गई थी और पूरे घटनाक्रम की जांच की थी। घटना में आरोपी राजू सोलंकी खुद क्राइम ब्रांच का खबरी था। जजिसके चलते वह क्राइम ब्रांच में हाजिर हुआ था। क्राइम ब्रांच ने उसे दानीलिमड़ा पुलिस को सौंपा था। इसके बाद एसीपी ने अलग अलग टीम बनाकर राजू सोलंकी से पूछताछ कर अन्य आरोपियों की भी जानकारी ली थी। 
पुलिस ने इमरान और इस्माइल को नडियाद से ढूंढ निकाला था। जबकि अभी भी एक और आरोपी फरार है। पुलिस ने घटना में दुष्कर्म और हत्या का केस दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू की है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें