अहमदाबाद : गुजरात म्युनिसिपल फाइनेंस बोर्ड द्वारा नगर पालिकाओं को आवंटित अनुदान की समीक्षा बैठक हुई

भावनगर, अमरेली, गिर-सोमनाथ और जूनागढ़ जिलों की नगर पालिकाओं की प्रगति की समीक्षा की गई

गुजरात नगर वित्त बोर्ड के माध्यम से नगर पालिकाओं के विकास के लिए बहुत अच्छा काम किया गया है : -डॉ धनसुखभाई भंडेरी

पिछले पांच वर्षों में विकास लक्षीय कामों के लिए म्युनिसपल फायनांस बोर्ड द्वारा रु. 38,500 करोड़ की ग्रान्ट गुजरात की  नगर पालिकाओं तथा महानगर पालिकाओं को दिया गया है। गुजरात नगर वित्त बोर्ड द्वारा नगर पालिकाओं को आवंटित अनुदान की समीक्षा के लिए भावनगर में एक बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में भावनगर, अमरेली, गिर-सोमनाथ और जूनागढ़ नगर पालिकाओं की प्रगति की समीक्षा की गई।
जवेरचंद मेघानी हॉल में आयोजित कार्यक्रम में गुजरात नगर वित्त बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. धनसुखभाई भंडेरी ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में वित्त बोर्ड के माध्यम से रु. 38500 करोड़ का अनुदान दिया गया है। नतीजतन नगर निगम क्षेत्र में सड़क, सीवरेज, पानी की सुविधा, सामुदायिक भवन समेत विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध हो गई हैं। 
उन्होंने इस संबंध में कहा कि इन जनोन्मुखी सुविधाओं से लोगों के जीवन स्तर में सुधार हुआ है। शहर अब प्यारा और रहने योग्य होता जा रहा है। इन नगरपालिका क्षेत्रों में लोगों की मूलभूत आवश्यकताओं के साथ-साथ उद्यान आदि सुविधाएं स्थापित की जा रही हैं और महानगर जैसी सुविधाएं भी स्थापित की जा रही हैं।
अध्यक्ष ने उपस्थित नगर पालिकाओं के अध्यक्षों और मुख्य अधिकारियों से कहा कि विकास कार्यों के लिए पर्याप्त अनुदान वित्त बोर्ड द्वारा  योजना और इसके कार्यान्वयन के लिए एक योजना के साथ आवंटित किया जाएगा। इस संबंध में उन्होंने विकास कार्यों की समय पर एवं सुचारू योजना सुनिश्चित करने के साथ ही चालू एवं नई परियोजनाओं की नियमित समीक्षा बैठकें सुनिश्चित करने का अनुरोध किया।
प्रधानमंत्री नरेन्द्रभाई मोदी ने राज्य की सभी नगर पालिकाओं को अमृत मिशन-2 में शामिल करने का विवरण देते हुए इस योजना का अधिक से अधिक लाभ उठाने का आह्वान किया। सभापति ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री  भूपेंद्रभाई पटेल गांवों में भी शहर जैसी सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। गांवों के उत्थान के लिए सरकार ने हाल ही में ग्राम विकास यात्रा के माध्यम से हाथ से हाथ बंटाकर लाभ पहुंचाया था। राज्य सरकार इस कीमत के साथ काम कर रही है कि गांव सुखी रहेगा तो देश भी सुखी होगा। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री आत्मनिर्भर गुजरात के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को साकार करने के लिए प्रतिबद्धता के साथ काम कर रहे हैं।
उन्होंने वर्तमान नगर पालिकाओं के अधिकारियों को समय-समय पर हो रहे कार्यों का अनुशरण कर उसमें गतिशीलता लाकर शहर को एक आदर्श शहर बनाने के लिए प्रतिबद्ध रहने को कहा।
अध्यक्ष ने  स्वच्छता सर्वेक्षण में राज्य में दूसरे स्थान प्राप्त करने वाले कोडिनार नगरपालिका तथा  स्वच्छता सर्वेक्षण में अग्रणी नगर पालिकाओं को भी सम्मानित किया।
मुख्य कार्यपालन अधिकारी पट्टानी साहब ने भावनगर अंचल की 27 नगर पालिकाओं की गतिविधियों की विस्तृत समीक्षा की। पश्चिम गुजरात पावर कंपनी लिमिटेड जे.जे. गांधी ने नगरपालिका क्षेत्र में ऊर्जा की खपत को कम करके ऊर्जा की खपत को कैसे कम किया जाए, इस पर मार्गदर्शन दिया। इस अवसर पर नगर आयुक्त कार्यालय के अपर आयुक्त आर. आर. डामोर और विभिन्न नगर पालिकाओं के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, मुख्य अधिकारी, अभियंता उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें