ब्लैक और व्हाईट के बाद अब ग्रीन फंगस का मामला सामने आया

(Photo Credit : oneindia.com)

इंदौर की 34 वर्षीय महिला में दिखाई दिया ग्रीन फंगस, देश भर में संभवत: पहला केस

देश भर में कोरोना महामारी के बाद से ही ब्लैक फंगस और व्हाइट फंगस ने अपना कोहराम मचा रखा है। कोरोना के बाद अब अधिकतर मरीज ब्लैक फंगस का शिकार भी बन रहे है। हालांकि यह बीमारी काफि दुर्लभ थी, पर कोरोना के कारण लोगों की रोगप्रतिरोधक शक्ति के कम हो जाने के कारण कई लोगों को इस फंगस ने संक्रमित किया है। ऐसे में अब देश में ब्लैक और व्हाइट के बाद अब ग्रीन फंगस का भी एक केस सामने आया है। इंदौर की एक 34 वर्षीय महिला में ग्रीन फंगस का मामला दर्ज किया गया है। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, इंदौर में रहने वाली 34 वर्षीय महिला का पिछले डेढ़ महीने से इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में कोरोना संक्रमित होने के कारण इलाज चल रहा था। उनके फेफड़ों में 90 प्रतिशत संक्रमण हो चुका था। इसके बाद जब उनके शरीर में फंगस का पता करने के लिए टेस्ट करवाया गया, तो उसकी रिपोर्ट देखकर डॉक्टर भी हैरान रह गए। डॉक्टरों को उनकी छाती में जो फंगस मिला वह ब्लैक फंगस से अलग था। डॉक्टरों के मुताबिक यह ग्रीन फंगस है, जो की समग्र देश में संभवत: पहली बार सामने आया है। 
डॉक्टर के अनुसार, यह संभवत: ग्रीन फंगस का पहला मामला है। इसलिए डॉक्टर इसके बारे में अभी और भी जांच कर रहे है। ग्रीन फंगस का वैज्ञानिक एस्परगिलोसिस कहा जाता है। इस फंगस के लक्षणों में नाक से खून आना और तेज बुखार भी शामिल है। गौरतलब है की कोरोना महामारी के बाद से देश में ब्लैक फंगस के कई केस सामने आए थे। जिसके बाद व्हाइट फंगस, यलो फंगस के केस भी सामने आए थे। जिसके बाद अब ग्रीन फंगस का केस भी सामने आया है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें