37 प्रतिशत भारतीयों को कोविड संकट के बीच वेतन कटौती का सामना करना पड़ा : सर्वे

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo : IANS)

2.9 प्रतिशत लोग नहीं कर रहे है कोई भी काम फिर भी मिल रहा है पूरा वेतन - सर्वे

नई दिल्ली, 30 मई (आईएएनएस)| कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर के बीच वेतन में कटौती की वजह से 37.6 फीसदी से अधिक भारतीयों की आय में कमी आई है। आईएएनएस-सीवोटर कोविड ट्रैकर सर्वेक्षण से यह जानकारी मिली। हालांकि, समूह के इस वर्ग ने कहा कि वे नियमों और सुरक्षा उपायों के तहत काम कर रहे हैं। पिछले एक हफ्ते में किए गए सर्वे के दौरान देशभर में कुल 6,872 लोगों से संपर्क किया गया।
कुल 21.1 फीसदी लोगों ने कहा कि उनका वेतन सामान्य दिनों की तरह ही है, लेकिन वे नियमों और सुरक्षा उपायों के तहत काम कर रहे हैं। हालांकि, महामारी के दौरान 10.9 प्रतिशत लोगों का काम पूरी तरह बंद है या फिर वे काम नहीं कर रहे हैं। कुल मिलाकर, 5.6 प्रतिशत भारतीयों ने कहा कि वे अभी भी वेतन में कटौती के साथ घर से काम कर रहे हैं और उनकी आय में कमी आई है। कुल 4 प्रतिशत भारतीयों ने कहा कि वे अभी भी समान वेतन और समान आय के साथ घर से काम कर रहे हैं।
3.7 प्रतिशत लोगों ने स्वीकार किया कि वे नियमों और सुरक्षा उपायों के तहत काम कर रहे हैं, लेकिन उनके पास कोई आय या वेतन नहीं है। सिर्फ 2.9 फीसदी लोगों ने कहा कि वे वर्क फ्रॉम होम नहीं कर रहे हैं, बल्कि पूरा वेतन पा रहे हैं। वहीं, 1.6 फीसदी लोगों ने कहा कि वे घर से काम नहीं कर रहे हैं, लेकिन वेतन काटा जा रहा है।
(Disclaimer: यह खबर सीधे समाचार एजेंसी की सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है। इसे लोकतेज टीम ने संपादित नहीं किया है।)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें